लखनऊ (जागरण टीम)। पीजीआइ के मोहद्दीपुर गांव में शुक्रवार को संदिग्ध हालात में दंपती की मौत हो गई। दोनों का शव कमरे में बेड पर पड़ा मिला था। दोनों की मौत कैसे हुई है, यह अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। पुलिस के मुताबिक शव पर चोट के निशान नहीं मिले हैं। मामले की पड़ताल की जा रही है।

मोहद्दीपुर गांव निवासी राम किशुन के बेटे राजकुमार (21) की शादी करीब पांच माह पूर्व धोधन खेड़ागांव निवासी सोहन लाल की बेटी खुशबू (20) से हुई थी। राम किशुन पुराने मकान में रहते हैं, जबकि थोड़ी दूर पर नए मकान में उनका बेटा पत्‍‌नी के साथ रहता था। राम किशुन के मुताबिक शुक्रवार सुबह राजकुमार और खुशबू घर पर खाना खाकर दोनों नए मकान में चले गए थे। शुक्रवार शाम को राम किशुन टहलते हुए दोनों से मिलने उनके आवास पर पहुंचे और आवाज लगाई लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। राम किशुन का कहना है कि दरवाजे पर दस्तक देने के बाद भी जब कोई जवाब नहीं मिला तो उन्होंने जोर से धक्का दिया। इससे दरवाजा खुल गया। वह भीतर कमरे में पहुंचे तो राजकुमार व खुशबू बेड पर पड़े मिले, लेकिन उनकी सांसे नहीं चल रही थी। यह देखकर शोर मचाया और पुलिस को घटना की जानकारी दी। मौके पर पहुंची सीओ कैंट तनु उपाध्याय और एएसपी उत्तरी अनुराग वत्स ने छानबीन की। दोनों के शरीर पर कोई जाहिरा चोट के निशान नहीं मिले हैं। परिवारीजन का कहना है कि खुशबू तीन माह के गर्भ से थी। कुछ दिन पूर्व उसकी तबीयत खराब हो गई थी, जिसका इलाज भी चल रहा था। हालांकि दंपती की मौत का कारण क्या है, इसके बारे में पुलिस भी कुछ नहीं बता पा रही है। एएसपी उत्तरी अनुराग वत्स के मुताबिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद मौत का कारण स्पष्ट हो सकेगा। घरवालों से पूछताछ की जाएगी।

तो फांसी लगाकर दी थी जान

चर्चा है कि जब राम किशुन वहां पहुंचे थे तो उनका बेटा फंदे पर लटका मिला। इसके बाद आननफानन उन्होंने उसे फंदे से उतारा था, जबकि खुशबू बेड पर पड़ी थी। एएसपी के मुताबिक पहले किसकी मौत हुई है, पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चलेगा। इसके बाद स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि पारिवारिक विवाद में दोनों की जान गई है। पुलिस भी खुशबू की हत्या की आशंका से इंकार नहीं कर रही है।

घर में मचा कोहराम

राजकुमार अपने माता पिता का इकलौता बेटा था। पांच माह पहले धूमधाम से घरवालों ने उसकी शादी की थी। पांच बहनों में इकलौते भाई राजकुमार की मौत से परिवार में कोहराम मचा हुआ है। घरवालों का रो-रोकर बुराहाल है। पुलिस का कहना है कि परिवारीजन से बातचीत के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा।

Posted By: Jagran