ललितपुर ब्यूरो:

असंगठित कर्मचारी यूनियन के तत्वावधान में विकास खण्ड जखौरा के ग्राम नैगाँवकलाँ में बाल श्रमिक रोकने के लिए बच्चों की रैली निकाली गई। इस अवसर पर मजदूरों के रजिस्ट्रेशन कराए गए। बच्चों को स्कूल भेजने, बच्चों में नशे की लत दूर करने व स्वच्छता के महत्व पर बताया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जेएल श्रीवास्तव रहे जबकि अध्यक्षता बिजेन्द्र शर्मा ने की।

कार्यक्रम में बीमारी से दूर करने के लिए स्वच्छता को अपनाने पर बल दिया गया। बताया गया कि जिस तरह हम घर को साफ सुथरा रखते है, उसी तरह हमें आस-पड़ोस को भी साफ-सफाई से रखना होगा। भोजन करने से पूर्व हाथ धोने की आदत डालना चाहिए। बताया गया कि देखने में आ रहा है कि गाँव-गाँव में लोग शराब और नशा, धूम्रपान, तम्बाकू सेवन की प्रवृत्ति लोगों में दिनोदिन बढ़ती जा रही है। यह समाज के साथ-साथ परिवार के लिए गम्भीर खतरा है। बच्चों में भी तम्बाकू सेवन की लत देखी जा रही है। माता पिता की जिम्मेदारी है कि वे स्वयं इन प्रवृत्तियों से दूर रहते हुए अपने बच्चों को भी इस प्रकार की आदतों से दूर रखें। बताया गया कि मजदूरों में जागरुकता की कमी होने से ही वे अपने अधिकारो से वंचित है। मजदूरी तो करता है, लेकिन उसका रजिस्ट्रेशन नहीं करवाता। इससे मजदूर को मिलने वाली सरकारी मदद और सुविधाओं से वह वंचित रह जाता है। बताया गया कि मजदूरों को सरकारी योजनाओं के तहत शिक्षा सहायता योजना, मातृत्व लाभ, शादी विवाह योजना सहित अनेक योजनाएं चल रही है। इसके अलावा 5 लाख रुपये का बीमा भी कराया जा रहा है। इस अवसर पर बच्चों द्वारा गीत सुनाकर मन मुग्ध किया गया। बच्चों की रैली गाँव में भ्रमण किया गया। इस दौरान आधी रोटी खायेंगे स्कूल जरूर जायेंगे जैसे प्रेरक नारे लगाए गए।

कार्यक्रम में खिलान सिंह, प्रदीप श्रीवास्तव, सुरेन्द्र जायसवाल, घनश्याम कुशवाहा, लाल सिंह, सुखलाल, सेवन, रामदास, रामस्वरूप कुशवाहा, पुनिया, संध्या, फूला सहित अनेक महिलायें पुरुष और बच्चे शामिल हुए। संचालन जसपाल सिंह बण्टी ने किया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप