ललितपुर ब्यूरो : जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में शासन द्वारा चिन्हित महत्वपूर्ण कार्यक्रमों के निर्धारित 61 प्रपत्रों पर मई माह तक की समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। इस दौरान जिलाधिकारी ने सभी विभागों की विभागवार समीक्षा की। जिलाधिकारी ने अधूरे पड़े आँगनवाड़ी केन्द्रों का जल्द निर्माण कराने के निर्देश दिये। वहीं बन्द पड़ी पेयजल योजनाओं को शीघ्र चालू कराने के निर्देश भी सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। उन्होंने चेताया कि योजनाओं के क्रियान्वयन में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी।

जिलाधिकारी ने छात्रवृत्ति वितरण एवं पेंशन के सत्यापन में तेजी लाने के निर्देश दिये। निराश्रित महिला पेंशन की समीक्षा के दौरान बताया गया कि खण्ड विकास अधिकारी बार पर 42, विरधा पर 62, जखौरा 69, मड़ावरा पर 23, महरौनी पर 31, तालबेहट पर 41 एवं उप जिलाधिकारी ललितपुर पर 64, महरौनी 7, पाली पर 12 तथा तालबेहट पर 11 नवीन आवेदन जाच हेतु लम्बित हैं, जिस पर जिलाधिकारी ने सम्बधितों को शीघ्र जाँच करने के निर्देश दिये। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रताप सिंह ने बताया कि मई माह में 42 निरीक्षण किये गये जिसमें 8 चिकित्सक अनुपस्थित पाये गये, जिस पर जिलाधिकारी ने अनुपस्थित चिकित्सकों के स्पष्टीकरण तलब किया। मई माह में 11 शिकायतें महिला हेल्पलाइन के अन्तर्गत दर्ज की गयी हैं, जिनको समय से निष्पादित किया गया है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की जानकारी देते हुए सम्बंधित अधिकारी ने बताया कि 7 योजनाओं में से 5 का कार्य पूर्ण हो चुका है तथा शेष 2 पर माह जून में कार्य पूर्ण कर लिया जायेगा। जिलाधिकारी द्वारा शेष कार्य समय सीमा के अन्तर्गत पूर्ण करने के निर्देश दिये। राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल योजना के तहत जिलाधिकारी ने बंद पड़ी पेयजल योजनाओं को शीघ्र चालू कराने के निर्देश दिये।

विद्युत आपूर्ति की समीक्षा के दौरान अधिशासी अभियंता विद्युत द्वारा बताया गया कि नगरीय क्षेत्रों में अंडरग्राउण्ड लाइन का कार्य चल रहा है, जिसे शीघ्र पूर्ण कर लिया जायेगा। जिलाधिकारी ने अपूर्ण आँगनबाड़ी केन्द्रों को शीघ्र पूर्ण कराने के निर्देश दिये। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के तहत बताया गया कि जनपद में डिजिटाइज्ड का‌र्ड्स के सापेक्ष नगरीय क्षेत्र में 99.20 प्रतिशत एवं ग्रामीण क्षेत्र में 98.11 प्रतिशत काडरें में आधारकार्ड फीडिंग की कार्यवाही की जा चुकी है। सड़कों को गढ्डामुक्त करने के सम्बध में बताया गया कि 21 सड़कों जिनकी लम्बाई 155.360 है, का कार्य शत-प्रतिशत पूर्ण कर लिया गया है। आसरा योजना की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी द्वारा सम्बन्धित अधिकारी को निर्देश दिये कि इसी माह कार्य पूर्ण कर लाभार्थियों को आवास आवण्टित करायें। बैठक में मृदा स्वास्थ्य कार्ड, खाद एवं बीज की उपलब्धता एवं वितरण की भी समीक्षा की गयी। इसके अलावा जिलाधिकारी द्वारा प्रधानमंत्री आवास, सिंचाई, खनन आदि विभागों की प्रगति की समीक्षा की। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी शिव नारायण, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रताप सिंह, अपर जिलाधिकारी योगेन्द्र बहादुर सिंह, परियोजना निदेशक डीआरडीए बलिराम वर्मा, जिला विकास अधिकारी देवेन्द्र प्रताप, जिला पूर्ति अधिकारी विजय प्रभा, डीआईओएस वीरेन्द्र कुमार दुबे के अलावा अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

::

बॉक्स-

::

उत्कृष्ट कार्य करने वाले अफसर सम्मानित

एक ओर जहाँ कार्य में लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह द्वारा कार्यवाही की जा रही है तो वहीं अच्छा कार्य करने वाले अफसर सम्मानित भी हो रहे हैं। इसी क्रम में जिलाधिकारी ने ग्राम स्वराज अभियान के तहत समय से लक्ष्य पूर्ण करने एवं उत्कृष्ट कार्य करने के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रताप सिंह, परियोजना निदेशक डीआरडीए बलिराम वर्मा, जिला पूर्ति अधिकारी विजय प्रभा, अधिशाषी अभियंता विद्युत डीआर विमलेश, खण्ड विकास अधिकारी बार, खण्ड विकास अधिकारी मड़ावरा वीपी शुक्ला, खण्ड विकास अधिकारी बिरधा सुनील कुमार को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया एवं उनके कायरें की सराहना भी की।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस