लखीमपुर : टेरर फंडिग के आरोपित सदाकत हुसैन की सात दिनों की कस्टडी रिमांड सीजेएम कोर्ट ने मंजूर कर दी है। सदाकत सात दिन तक एटीएस की कस्टडी में रहेगा। इस दौरान सदाकत से पूछताछ की जाएगी और टेरर फंडिग के मामले में सदाकत की भूमिका व उसके साथियों के बारे में जानकारी जुटाई जाएगी। सदाकत हुसैन को पुलिस कस्टडी रिमांड में लेने के लिए मामले के विवेचक एटीएस के सीओ शैलेंद्र सिंह राठौर ने बीते शनिवार को कोर्ट से अनुमति लेकर बरेली जेल में उसके बयान दर्ज किए थे। बयानों में सदाकत का टेरर फंडिग मामले में खातेदार मुहैया कराने में अहम रोल पाया गया। साथ ही सदाकत ने बताया कि अलीम नामक व्यक्ति से सबसे पहले मुलाकात हुई और उसने रुपयों का लालच दिया। बयानों के आधार पर विवेचक ने सीजेएम विकास श्रीवस्तव की अदालत में सदाकत को पुलिस कस्टडी रिमांड में लेने की अर्जी बीते सोमवार को दाखिल की थी। बुधवार को सुनवाई के बाद सीजेएम ने सात दिनों की पुलिस कस्टडी रिमांड स्वीकृति कर दी। सदाकत हुसैन को बरेली जेल से रिमांड पर लिया जाएगा। सदाकत हुसैन एटीएस को चकमा देकर बीती 19 अक्टूबर को बरेली के प्रेमनगर थाने के एक मुकदमे में हाजिर होकर जेल चला गया था। जिसके बाद एटीएस की अर्जी पर सदाकत को टेरर फंडिग के मामले में रिमांड लेने के लिए बरेली जेल से सीजेएम की कोर्ट में तलब किया गया था। सदाकत हुसैन 13 नवंबर शाम पांच बजे तक पुलिस कस्टडी रिमांड में रहेगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप