लखीमप र: थारू बाहुल्य क्षेत्र चंदनचौकी स्थित एकीकृत जनजाति विकास परियोजना कार्यालय परिसर में थारू प्रधान जनता कल्याण समिति चंदनचौकी के तत्वावधान में आयोजित दो दिवसीय थारू माघी महोत्सव का सोमवार को समापन हो गया। समापन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में चंद्रराम चौधरी अध्यक्ष जनजाति एवं लोक कला संस्कृति संस्थान उप्र ने आदिवासी जनजाति की संस्कृति और लोक कलाओं के संरक्षण के लिए संस्थान द्वारा किए जा रहे कार्यों के बारे में जानकारी दी। कहा कि क्षेत्र के लोगों को अपनी परंपरागत थारू संस्कृति को याद रखना चाहिए। भले ही हम विकास की राह में आगे बढ़ रहे हैं, लेकिन आधुनिकता के दौर में भी अपनी जमीन से जुड़े रहना आवश्यक है। उन्होंने थारू समाज में फैली कुरीतियों को भी खत्म करने का आवाहन किया। परियोजना अधिकारी यूके ¨सह ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि थारू क्षेत्र में प्रतिभाओं की कमी नहीं है, जरूरत है इन प्रतिभाओं को तराशने की। इसके लिए निरंतर प्रयासरत हैं। कार्यक्रम का समापन इस संकल्प के साथ किया गया कि अगले साल भी इसी तरह सुंदर और भव्य आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम में मथुरा से आए कलाकारों के सुंदर और मनमोहक नृत्य ने चार चांद लगा दिए। पड़ोसी देश नेपाल एवं उत्तराखंड सहित अन्य जगहों के कलाकारों ने भी अपनी प्रस्तुति दी। इस मौके पर प्रधान राम नरेश, लक्ष्मण राना, रामसहाय, फूलचंद्र राना आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप