राकेश मिश्र, लखीमपुर: एसएसबी के जवान सीमा पर केवल सुरक्षा ही नहीं कर रहे हैं बल्कि सीमावर्ती ग्रामीणों को जागरूक करने का भी काम कर रहे हैं। नेपाल सीमा पर एसएसबी की महिला जवान भी पूरी मुस्तैदी से सुरक्षा के कार्यों को अंजाम दे रहे हैं। इतना ही नहीं जम्मू कश्मीर में भी यहां की एक बटालियन सीमा सुरक्षा में तैनात है। जहां पर एसएसबी के जवान आतंकियों से लोहा ले रहे हैं। उप महानिरीक्षक एसएसबी जितेंद्र देव वशिष्ठ की अगुवाई में यशस्वी के जवान सरकार की योजनाओं को आम जनता तक लाभ दिलाने में सहयोग करें। एक-एक जवान 10 परिवारों को संकल्प लेकर योजनाओं का लाभ दिलाने का काम कर रहा है। एसएसबी के जवान लखीमपुर के अलावा बहराइच और श्रावस्ती में भी सीमा की सुरक्षा पर तैनात हैं। सामाजिक तौर पर भी एसएसबी के जवानों का विशेष योगदान है। साइबर अपराधों के प्रति लोगों को जागरूक किया जा रहा है। कोविड-19 के दौरान एसएसबी के जवानों ने न सिर्फ घर-घर जाकर मास्क व सैनिटाइजर बांटे बल्कि लोगों को जागरूक किया। नशा मुक्ति अभियान हो, स्वच्छता अभियान हो या पौधारोपण अभियान सभी में एसएसबी के जवानों ने बढ़-चढ़कर भाग लिया है। थर्ड बटालियन के कमांडेंट दामोदर प्रसाद मीणा की अगुवाई में भारत-नेपाल सीमा की खीरी जिले की 54.5 किलोमीटर लंबी सुरक्षा का दायित्व तृतीय वाहिनी सशस्त्र सीमा बल बखूबी निभा रहा है। किसी भी पर्व पर सीमा पर तैनात सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट रहती हैं। ताकि घुसपैठ न हो सके। चंदनचौकी से खकरोला बार्डर तक एसएसबी के जवान तैनात हैं और सीमा सुरक्षा की जिम्मेदारी अपने कंधों पर संभाले हैं। एसएसबी जवान सीमा पर दोनों देशों के बीच आवाजाही करने वालों पर पैनी नजर रखते हैं। इस वाहिनी का कार्य क्षेत्र दुधवा जंगल से मुहाना नदी के साथ जंगल दलदल बाढ़ ग्रस्त और तराई वाले क्षेत्र में है। नेपाल की सीमा खुली हुई है। भारत का पड़ोसी देश होने के साथ नेपाल से रोटी और बेटी का भी रिश्ता माना जाता है।

सीमा प्रबंधन आज के समय में किसी चुनौती से कम नहीं है। एसएसबी के जवान सीमा पर 24 घंटे पहरा रखते हुए अवैध गतिविधियों को रोकने के लिए तत्पर हैं। इसमें मादक पदार्थों की तस्करी, मानव तस्करी , हथियारों की तस्करी, अवैध घुसपैठ व अन्य अवैध गतिविधियों पर अंकुश लगा है। इसको पूर्ण करने के लिए आधुनिक यंत्र सीसी कैमरे, एचएचटीआइ, वायु कुलर, मोनू कूलर व ड्रोन कैमरा से भी नजर रखी जा रही है। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के मद्देनजर चुनाव आयोग के सभी दिशा-निर्देशों के पालन की भी सीमा पर सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। जिसे सीमा पर तैनात एसएसबी के जवान पूर्ण कराएंगे।

Edited By: Jagran