लखीमपुर : ओवरब्रिज पर डिवाइडर लेन का उल्लंघन जहां परंपरा बन चुका है, वहीं बाइक चलाते वक्त मोबाइल पर बात करने का चल भी थम नहीं रहा।

परिवहन विभाग भले ही सड़क की सुरक्षा को लेकर पूरे माह अभियान चला रहा हो, लेकिन हालात इसके ठीक विपरीत हैं। एआरटीओ प्रवर्तन भी एक तरफ वाहनों के चालान में लगे हुए हैं इसके बावजूद स्थिति सुधरने का नाम नहीं ले रही है। हाईवे हो या शहर के बीच से गुजरने वाले मार्ग ट्रिपलिंग तो आम बात हो चुकी है ऐसे में सड़क सुरक्षा माह को पूरी तरह सफल कैसे माना जा सकता है।

शहर के ओवरब्रिज पर ही डिवाइडर लेन का उल्लंघन कभी भी होते देखा जा सकता है। दोपहिया, चौपहिया वाहन अपने बराबर के वाहन को ओवरटेक करने के लिए डिवाइडर लेन को कब क्रास कर देंगे यह नहीं बताया जा सकता। गलत साइड में वाहन दौड़ा कर नियम कानून तोड़ने की यह प्रवृत्ति बराबर बढ़ती जा रही है। सुबह 10 बजे से दोपहर के 12 बजे तक कभी भी इसे ओवरब्रिज पर देखा जा सकता है जबकि चंद रोज पहले यहीं पर एआरटीओ प्रवर्तन ने अभियान भी चलाया था। एक बाइक पर तीन सवारी की बात करें तो शहर के सौजन्या चौक पर कभी भी ऐसे ²श्य भी देखे जा सकते हैं। मोबाइल पर बात करने, कान में हेडफोन लगाने जैसे ²श्य मेला रोड पर भी देखे जा सकते हैं।

परिवहन विभाग पूरे प्रदेश में राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह मना रहा है। विद्यालयों, विभिन्न सरकारी जगहों पर कार्यशालाएं हो रही हैं। दुर्घटना से बचाव के टिप्स दिए जा रहे हैं, सड़कों पर चेकिग अभियान भी चल रहा है लेकिन इसका असर होते कहीं नहीं दिख रहा।

एआरटीओ आरके चौबे का कहना है कि मोबाइल पर बात गलत साइड में गाड़ी चलाना ट्रिपलिग आदि नियमों के उल्लंघन को रोकने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। पूरा प्रयास किया जा रहा है कि उल्लंघन करने वालों की हरकतों में सुधार हो।

Edited By: Jagran