लखीमपुर: नगर पालिका परिषद की ओर से नगर को पूरी तरह स्वच्छ घोषित कर दिया गया है। इसके साथ ही शासन की ओर से स्वच्छता सर्वेक्षण भी शुरू हो चुका है। 31 जनवरी तक इसे पूरा किया जाना है। इस बीच किसी भी दिन लखनऊ से स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए केंद्रीय विभाग की टीम निरीक्षण के लिए भी आ सकती है। नगर पालिका परिषद अध्यक्ष निरुपमा वाजपेयी का दावा है कि नगर पूरी तरह से स्वच्छ है। अभी तक लखीमपुर का रैंक सफाई के मामले में 410 से 356 तक पहुंचा है। इस बार 200 के अंदर आने की उम्मीद है।स्वच्छता सर्वेक्षण शुरू हो चुका है लखनऊ की टीम आम जनता से भी बातचीत कर फीडबैक लेगी। इसके अलावा स्वच्छता भी देखेगी। यह तय किया जाएगा कि किस स्तर की स्वच्छता है। शहर में डस्टबिन हैं या नहीं, हैं तो टूटे हैं अथवा साबित। कचरा अलग- अलग तरह के डस्टबिन में डाला जा रहा है या नहीं। नालियां टूटी तो नहीं हैं। पानी सड़कों पर तो नहीं बह रहा है। पालिका ने अपनी सफाई के दावों की रिपोर्ट पहले ही सबमिट कर दी है। गंगोत्री नगर कॉलोनी में कीचड़ बीच रास्ते में दिखाई दे रहा है। अर¨वद नगर कॉलोनी में जाम नालियों का पानी बीच रास्ते पर बह रहा है। नई बस्ती का नाला पूरी तरह से चोक है। वर्षों से पटरी के किनारे नाले की सफाई न होने के कारण बाजपेई कालोनी में पंजाब टेक्निकल के पास की गलियों के निवासियों के घरों में नालियों का पानी बैक होकर भर रहा है। लखनऊ की टीम आकर क्या देखेगी और क्या इसी आधार पर 200 के अंदर रैंक देगी। एक तरफ नगर पालिका सफाई के दावे करते नहीं अघाती और दूसरी तरफ मुहल्ला महाराज नगर, नईबस्ती, अर्जुनपुरवा जैसे वार्ड नगर पालिका के दावों पर सवालिया निशान लगा रहे हैं।

Posted By: Jagran