लखीमपुर: एसपी पूनम ने शुक्रवार को पुलिस लाइन के मैदान पर स्कूली बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि सभी बच्चों को सबसे पहले यातायात के नियमों को खुद सीखना है और अपने घर वालों को यह बताना है कि इसका पालन क्यों जरूरी है। एसपी ने कहा कि बच्चे अभी से अगर यातायात के नियमों की आदत अपने अंदर डाल लेंगे तो उन्हें आगे चलकर दिक्कत भी नहीं होगी। उन्होंने बच्चों पर यह बड़ी जिम्मेदारी भी सौंपी कि वह अपने घरवालों को जो लोग दोपहिया या चार पहिया वाहन चलाते हैं उनको यह बताएं कि यातायात के नियमों का पालन करना उनके लिए क्यों जरूरी है। कैसे बाइक चलाते वक्त हेलमेट उनके जीवन की रक्षा कर सकता है और कैसे कार चलाते वक्त सीट बेल्ट उनके जीवन को खतरे में पड़ने से बचा सकती है। क्योंकि आए दिन हो रहे सड़क हादसों से एक नहीं कई बार कई-कई परिवार बर्बाद हो जाते हैं इससे पहले एसपी ने पुलिस लाइन से निकलने वाली एक जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया जो कि शहर के मुख्य मार्गों से गुजरती हुई वापस पुलिस लाइन पर ही समाप्त हुई। सीओ सिटी विजय आनंद भी मौजूद रहे।

परिवहन विभाग ने किए 100 से ज्यादा चालान

शुक्रवार को यातायात माह के पहले ही दिन परिवहन विभाग में अपने पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत वाहन चेकिग अभियान भी चलाया। शहर के रामापुर चौराहे पर एआरटीओ प्रवर्तन राकेश कुमार चौबे अपने दल बल के साथ पहुंच गए। उन्होंने पीलीभीत बस्ती मार्ग से शहर में दाखिल होने वाले सभी दुपहिया वाहनों व चौपहिया वाहनों की चेकिग की। इस दौरान उन्होंने सबसे ज्यादा ऐसे लोगों के चालान किए जिन्होंने बाइक पर हेलमेट नहीं लगा रखा था या कार में सीट बेल्ट नहीं बांध रखा था। एआरटीओ प्रवर्तन रमेश कुमार चौबे ने बताया कि अब से पूरे माह यह अभियान जारी रहेगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप