पलिया (लखीमपुर): पलिया तहसील क्षेत्र के बाढ़ प्रभावित गांव जंगल नंबर 7 में मंगलवार को भी कोई सरकारी मदद नहीं पहुंची। एक दिन पहले फांसी लगाकर आत्महत्या करने वाले किसान मंगतराम के परिवार का भी हाल लेने कोई सरकारी अफसर गांव में नहीं पहुंचा। इसको लेकर गांव वालों में आक्रोश व्याप्त है। देर शाम इस गांव में दोबारा पहुंचे पलिया के विधायक रोमी साहनी ने पीड़ित परिवार की हालत देखते हुए मंगतराम की पत्नी लज्जावती को 27000 की नगद धनराशि प्रदान की और आगे भी सहयोग देते रहने का आश्वासन दिया। विधायक रोमी साहनी ने बताया कि यह बेहद हैरत की बात है कि सब कुछ जानते हुए भी सरकारी तंत्र ने इस परिवार व अन्य पीड़ित गांव वालों की अब तक कोई मदद नहीं की और ना ही कोई गांव में झांकने आया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को भी इन हालातों से अवगत कराया जाएगा। क्योंकि पीड़ित परिवार के पास दवा खरीदने तक के लिए फूटी कौड़ी भी नहीं है।

Posted By: Jagran