लखीमपुर: गन्ना क्रेशर का गंदा पानी सड़क किनारे खुलेआम बहाया जा रहा है। इस गंदे पानी की बदबू से राहगीर परेशान हो रहे हैं। गंदगी की वजह से सड़क किनारे लगे लाखों रुपये की कीमत के सरकारी पेड़ सूख कर बर्बाद हो रहे हैं। मुख्य मार्ग के किनारे हो रहे इस प्रदूषण पर जिम्मेदारों की नजर नहीं पड़ रही है।

तहसील सदर क्षेत्र के अंतर्गत लखीमपुर-मोहम्मदी मार्ग के किनारे रतसिया गांव के पास का मामला है। मुख्य मार्ग होने के कारण इससे होकर जिले के आला अधिकारी अक्सर गुजरते रहते हैं। बावजूद इसके खुलेआम हो रहे इस प्रदूषण पर किसी की नजर नहीं पड़ती। गन्ना क्रेशर से निकलने वाला केमिकल युक्त गंदा पानी इस तरह बदबू देता है कि लोगों का निकलना दुश्वार कर देता है। यह गंदा पानी क्रेशर से निकलकर सड़क किनारे बहता हुआ जमुआरी नदी में गिरता है। इससे नदी का पानी भी दूषित हो जाता है। रोड के किनारे वन विभाग के कीमती अर्जुन के पेड़ लगे हुए हैं। गंदा पानी पेड़ों की जड़ में भरा रहने के कारण दर्जनों पेड़ सूख कर गिर रहे हैं।

इसी रोड पर सल्लिहाबाद चौराहे पर लगी दूसरी गन्ना क्रेशर भी खुलेआम गंदा पानी सड़क किनारे भर रही है। जिस जगह पर ग्रामीण क्षेत्र की बाजार लगती है और लगभग दर्जन भर गांव के लोग बाजार आते जाते हैं, इसी बाजार के किनारे बदबूदार क्रेशर का पानी खुलेआम बहा करता है।

-----------------------------------

क्या कहते हैं जिम्मेदार

इस संबंध में बात करने पर एसडीएम सदर अरुण कुमार सिंह का कहना है कि अब गन्ना क्रेशर चलना शुरू हुआ है। जांच करवा कर सख्त कार्रवाई की जाएगी। किसी भी हालत में प्रदूषण नहीं होने दिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस