लखीमपुर : मैलानी वनक्षेत्र में नेपाली हाथियों का उत्पात लगातार जारी है। हाथियों का झुंड शनिवार रात फिर जंगल से बाहर निकला और पहाड़नगर गांव में दो किसानों की सात एकड़ धान की पकी फसल रौंद दी। इसके बाद मढहा बाबा देवस्थान के पास डेरा जमा लिया। हाथी पिछले एक सप्ताह से मैलानी क्षेत्र में पहाड़नगर निवासी दिलबाग सिंह धर्मेंद्र सिंह के खेत में उत्पात मचाया और धान की करीब सात एकड़ फसल रौंद डाली। रात होते ही जंगल के आसपास के खेतों में लगी फसलों को रौंदने लगते हैं। हाथियों के इस झुंड में करीब 25 हाथी बताए जा रहे हैं। वन विभाग पिछले नौ अक्टूबर से इनकी निगरानी कर जंगल के ट्रैक पर मोड़ने के लिए तरह-तरह के जुगत लगा रहा है लेकिन, हाथियों को काबू करने में सफल नहीं हो पा रहा है। बंगाल से 24 ट्रैकर भी बुलाए गए लेकिन, वह भी हाथियों का मूवमेंट ट्रेस करने में कामयाब नहीं हो पा रहे हैं। हाथियों के उत्पात से वन विभाग के अधिकारी, कर्मचारी व बंगाल से आई टीम भी परेशान हो गई है। धान रौंदे जाने के बाद किसानों की सूचना पर पहुंचे एसडीओ मैलानी दिलीप कुमार श्रीवास्तव, रेंजर केपी सिंह, वनरक्षक राजेश कुमार यादव, आकाश खरवार, शमशेर सिंह सहित टीम मौके पर पहुंची और जायजा लिया। अधिकारियों ने शीघ्र ही किसानों को नुकसान का मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस