संवादसूत्र, लखीमपुर: जिले में कोरोना पीड़ितों का आंकड़ा 700 के पार पहुंच चुका है और सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ खत्म होने का नाम नहीं ले रही। जहां एक तरफ मेले, सार्वजनिक जनसभाओं आदि पर पाबंदी है। वहीं सोमवार की बाजार में पुराने एसपी बंगले के पास जबरदस्त भीड़ लग रही है। ठंड के चलते यहां गर्म कपड़े खरीदने वाले दिनभर डटे रहे। इसे लेकर दैनिक जागरण ने पिछले सप्ताह भी खबर प्रकाशित की थी, इसके बावजूद प्रशासन ध्यान नहीं दे रहा।

जहां एक तरफ नाइट क‌र्फ्यू और शहर की बाजार बंद कराई जा रही है, वहीं सोमवार की बाजार में इसकी कमी पूरी कर ली जाती है, लेकिन प्रशासन को इससे कोई मतलब नहीं। आश्चर्य की बात है जब छोटी सी यह बात पूरा शहर जान रहा है तो प्रशासन को इसकी खबर क्यों नहीं और यदि है तो उसपर अंकुश क्यों नहीं। ऐसे में जब महामारी तेजी से फैल रही है पुराने एसपी बंगले की तरफ सोमवार की बाजार में एक बार फिर वही जबरदस्त भीड़ दिखाई दी। सुबह से बदली और शीतलहर के चलते यहां गर्म कपड़े खरीदने वालों की जबरदस्त भीड़ दिखी। करीब दो एकड़ के क्षेत्र में इस भीड़ में एक-एक दुकान पर 20-20 से अधिक लोग खड़े दिखाई दिए। ऐसे में कहीं कोई संक्रमित हो जाए तो किसकी जिम्मेदारी होगी .? सोमवार को कोरोना जांच में अब तक के सबसे अधिक संक्रमित 255 निकले हैं। इस पर भी प्रशासन नहीं चेत रहा। सड़कों पर बराबर आवाजाही है। बस स्टैंड से लेकर रेलवे स्टेशन तक कहीं भी कोरोना प्रोटोकाल का पालन नहीं किया जा रहा है। यहां तक कि पूरा कलेक्ट्रेट परिसर भी कोरोना प्रोटोकाल दूर दिखाई देता है। इधर शहर में बढ़ता जा रहा मरीजों का आंकड़ा लोगों में डर का कारण भी बनता जा रहा है।

Edited By: Jagran