लखीमपुर: पारिवारिक विवाद की सूचना पर गांव में मामला निपटाने गई पुलिस पर परिवार के लोगों ने हमला कर दिया। हमले में एक दारोगा के सिर व अन्य कई जगह काफी चोटें लग गईं। सूचना पर सीओ और इंस्पेक्टर भारी पुलिस बल के साथ गांव पहुंचे। जहां एक महिला को हिरासत में ले लिया।

प्रभारी निरीक्षक बृजेश कुमार त्रिपाठी ने बताया कि मंगलवार की रात ग्राम झारकोटा मजरा असौवा से सरला देवी ने मोबाइल पर डायल 112 नंबर पुलिस को सूचना दी कि उसके परिवार में आपसी कहासुनी पर परिवार के लोग काफी विवाद कर रहे हैं। सूचना पर एसआइ अश्वनी कुमार सिंह पुलिस टीम के साथ गांव में विवाद शांत कराने पहुंच गए। तभी गांव के अशोक, लाखन पुत्र गण बेचेलाल व बेचेलाल व उसकी पत्नी तारावती ने अचानक लाठी डंडा लेकर पीआरवी पर हमला कर दिया व गाली गलौज देते हुए लाठी-डंडों से पीआरवी कर्मियों को काफी मारा पीटा। जिससे एसआइ अश्वनी कुमार सिंह के सिर व अन्य कई जगह काफी चोटें आईं है। इसी दौरान एसआइ का मोबाइल भी लाठी लगने से टूट गया। उपरोक्त चारों आरोपितों द्वारा पीआरवी कर्मियों को जान से मारने की धमकी देते हुए दौड़ा लिया गया। मामले की सूचना पर सीओ अभय प्रताप मल्ल, इंस्पेक्टर बृजेश कुमार त्रिपाठी भारी पुलिस बल के साथ गांव पहुंच गए। जहां तारावती को रात में ही हिरासत में ले लिया व अन्य तीन आरोपित भाग निकले। पुलिस ने चारों के विरुद्ध केस दर्ज कर लिया है। ग्रामीणों ने बताया कि सरला देवी व पिकी देवी आपस में देवरानी व जेठानी हैं। बेचेलाल के पुत्र मनोज की 22 अप्रैल को बरात जानी है। जहां परिवार में माल जेवर को लेकर आपस में विवाद हो गया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप