सिकंद्राबाद (लखीमपुर) : नीमगांव थाना क्षेत्र के गांव में एक किशोरी के साथ सामुहिक दुष्कर्म का मामला प्रकाश में आया है। सोमवार को हुई इस घटना को पुलिस दबाए रही। मंगलवार को जब परिवारीजनों ने थाने के सामने किशोरी को लिटाकर प्रदर्शन किया तो हरकत में आई पुलिस ने किशोरी को अस्पताल में भर्ती कराया।

नीमगांव थाना क्षेत्र के एक गांव की नाबालिग किशोरी सोमवार को खेत पर गन्ने की पत्ती लेने गई थी। आरोप है कि गांव के ही दो युवकों ने किशोरी के साथ गन्ने के खेत में सामुहिक दुष्कर्म किया। इस दौरान किशोरी की पिटाई भी की गई, जिससे उसको गंभीर चोटें आईं। परिवारीजन किशोरी को बेसुध अवस्था में उठा कर थाने ले गए। जहां पुलिस ने महज मारपीट की एनसीआर दर्ज की। किशोरी के पिता ने बताया कि पुलिस ने उनसे कुछ लिखवाया और घर जाने को कहा। अगले दिन फिर परिवारीजन किशोरी को लेकर थाने पहुंचे, लेकिन पुलिस ने उनकी कोई बात नहीं सुनी। इसपर परिवारीजनों ने किशोरी को थाने के सामने मैदान में लिटा दिया। इस पर अपनी किरकिरी होते देख पुलिस ने किशोरी को गाड़ी में बिठाकर वहां से हटाया और बेहजम सीएचसी में भर्ती करा दिया। जहां से डॉक्टरों ने उसे 108 एंबुलेंस से जिला अस्पताल भेज दिया। वहां किशोरी के परिवारीजन उसे लेकर एसपी के पास पहुंचे। एसपी राम लाल वर्मा ने किशोरी के मेडिकल का आदेश दिया। एसपी ने बताया कि मामला गंभीर है, मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर दर्ज रिपोर्ट को तरमीम किया जाएगा।

Posted By: Jagran