लखीमपुर: मिर्जापुर के एक स्कूल में लंच के समय बच्चों के बिजली के करंट से झुलसने की घटना के बाद खीरी में भी ऐसे स्कूलों को चिन्हित किया गया है। जिले में कुल 219 दिन स्कूल ऐसे हैं जहां बच्चे हाईटेंशन बिजली लाइन की चपेट में आ सकते हैं। बच्चे स्कूल के बाहर मैदान में निकलने से भी डरते हैं। बीएसए बुद्धप्रिय सिंह ने बताया कि इसमें पसगवां में 33, मोहम्मदी में 22, बिजुआ में 12, निघासन में 22, ईसानगर में 7, बेहजम में 8, लखीमपुर में 16, फूलबेहड़ में 5, नकहा में 12, मितौली में 10 स्कूल सहित तमाम स्कूल हैं। बीएसए ने बताया कि स्कूलों की सूची बिजली विभाग के अधिशासी अभियंता को भेज दी गई है। ताकि बिजली विभाग द्वारा जल्द से जल्द लाइनों का सर्वे कराकर उन्हें दूसरी जगह शिफ्ट करने की प्रक्रिया पूरी की जा सके। फिलहाल अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि जो बिजली लाइनें हटाई जाएंगी तो उन पर आने वाले खर्च का वहन कौन करेगा। बीएसए ने बताया कि जल्द ही इन स्कूलों से बिजली लाइनें हटाई जाएंगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस