कुशीनगर : क्षेत्र के गांव पैकौली बाबू निवासी 40 वर्षीय किशोर यादव के हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर रविवार को स्वजन व ग्रामीण कोतवाली पहुंचे। ग्रामीणों ने पुलिस पर उदासीनता बरतने तथा दर्ज मुकदमे में एक आरोपित का नाम शामिल न करने का आरोप लगाया।

रविवार को मृतक की पत्नी गुड्डी के साथ कोतवाली पहुंचे दर्जनों ग्रामीणों ने हत्या के शीघ्र पर्दाफाश की मांग की। कहा कि घटना को पांच दिन बीत गए पर पुलिस अब तक एक भी आरोपित को गिरफ्तार नहीं कर सकी है। मृतक की पत्नी ने एक आरोपित का नाम एफआइआर में न होने का आरोप लगाया। कहा कि पुलिस ने तहरीर में शामिल सभी नामों को मुकदमे में शामिल नहीं किया है। अगर इस मामले में निष्पक्ष कार्रवाई नहीं हुई तो वह अनशन के लिए विवश होंगी।

पैकौली बाबू निवासी किशोर यादव की बीते मंगलवार की रात धारदार हथियार से गला रेत कर हत्या कर दी गई थी। मृतक के पिता मोतीलाल ने तहरीर देकर जमीनी विवाद में हत्या की आशंका जतायी है। तहरीर के आधार पर पुलिस गांव के ही तीन लोगों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कर उनकी तलाश में जुटी है। अब तक एक भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। प्रभारी निरीक्षक जयप्रकाश पाठक ने बताया कि पुलिस जांच कर रही है, घटना में शामिल किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा। पुलिस मामले में सख्त कार्रवाई करेगी।

हत्यरोपितों के घर कुर्की के लिए नोटिस चस्पा

अहिरौली बाजार पुलिस ने क्षेत्र के गांव बरवा बावन निवासी भुअरी उर्फ गीता व विमला के घर की कुर्की के लिए रविवार को घर पर नोटिस चस्पा किया। दोनों हत्या के मामले में आरोपित हैं। सम्मन जारी करने के बाद भी दोनों कोर्ट में उपस्थित नहीं हुईं। जिसे देखते हुए कोर्ट ने सीआरपीसी की धारा 82 के तहत कार्रवाई का आदेश दिया था। दारोगा शर्मा सिंह यादव ने नोटिस चस्पा किया।

Edited By: Jagran