कुशीनगर : कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए टीकाकरण के प्रति लोगों में जहां जागरूकता दिखने लगी है, वहीं स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से वैक्सीन की कमी हो जा रही है। इसकी वजह से बुधवार को जिले के 36 वैक्सीनेशन केंद्रों पर सिर्फ 6479 लोगों को टीका लगा।

इस दौरान 4849 लोगों को प्रथम व 1630 को द्वितीय डोज दी गई, जिसमें 18 प्लस में 2595 को प्रथम व 797 को द्वितीय, 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में 181 को प्रथम व 727 को द्वितीय डोज लगी तो कलस्टर अप्रोच में 18 प्लस में 1244 को प्रथम व 34 को द्वितीय, 45 प्लस में 829 को प्रथम व 72 को द्वितीय डोज का टीका लगा। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा.संजय गुप्ता ने कहा कि लोग शीघ्र टीका लगवाएं। सहायक शोध अधिकारी विनोद शाह ने बताया कि 33 हजार डोज टीका बुधवार की शाम को उपलब्ध हो गया है। गुरुवार को सभी केंद्रों पर टीकाकरण होगा।

3012 लोगों की मिली रिपोर्ट, सभी निगेटिव

कोरोना संक्रमण की बुधवार को हुई जांच में एक भी संक्रमित नहीं मिला। 3012 लोगों की जांच में सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। जिले में एक सक्रिय केस है।

सीएमओ डा. सुरेश पटारिया ने बताया कि अब तक कुल 15616 संक्रमितों में से 15388 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। उन्होंने लोगों से अपील की है कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए कोविड गाइडलाइन का पालन करते रहें। मास्क के प्रयोग के साथ शारीरिक दूरी का पालन सभी के लिए आवश्यक है।

एक वर्ष से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को तलाश रहा विभाग

हाटा नगर पालिका परिषद के गांधी नगर सोनबरसा की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता का एक वर्ष से पता नहीं है। कार्यालय या केंद्र पर भी उनकी उपस्थिति न होने पर विभाग अब उनकी तलाश कर रहा है।

बाल विकास विभाग कार्यालय के अनुसार विनीता मल्ल सोनबरसा स्थित केंद्र पर तैनात हैं। बीते एक वर्ष से उनके वहां विभाग द्वारा संचालित योजनाओं का क्रियान्वयन नहीं हो रहा। अपनी अनुपस्थिति का उन्होंने कोई कारण भी नहीं बताया है। विभाग द्वारा भेजे गए पत्र का भी कोई जवाब नहीं दे रही हैं। केंद्र पर नामांकित महिलाओं तथा बच्चों को सुविधाएं न मिलने पर वार्ड की सभासद प्रीति रूंगटा ने भी बाल विकास परियोजना अधिकारी को पत्र लिखकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के काफी समय से अनुपस्थित रहने तथा कल्याणकारी योजनाओं के संचालन में दिक्कत आने की जानकारी दी है। इन परिस्थितियों में विभाग द्वारा दूसरे आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से कार्य कराया जा रहा है। बाल विकास परियोजना अधिकारी प्रत्युष चंद्रा ने बताया कि बिना सूचना कार्यकर्ता के अनुपस्थित रहने की सूचना जिला कार्यालय को दे दी गई है। उनके पते पर पत्र भेजकर उन्हें अपना पक्ष रखने को कहा गया है। उच्चाधिकारियों के निर्देश के बाद आगे नियमानुसार कार्रवाई होगी।

Edited By: Jagran