कुशीनगर : बोदरवार बाजार में गुरुवार को दशहरा मेला में सजी राम दरबार की झांकी ने लोगों का मन मोह लिया। श्रीराम, भरत, लक्ष्मण, शत्रुघ्न और हनुमान के रूप में सजे कलाकारों ने बाजार का भ्रमण किया। जिससे माहौल भक्तिमय हो गया। लोगों ने झांकी पर पुष्प वर्षा की। जय श्रीराम के जयघोष से वातावरण गूंज उठा।

रामलीला कलाकारों की ओर से निकाली गई झांकी को देखने के लिए भीड़ उमड़ पड़ी। ग्राम प्रधान राजकमल मद्धेशिया ने बताया कि हर साल की तरह इस बार भी विजयादशमी के अवसर पर शुक्रवार को बोदरवार बाजार में रामलीला का मंचन किया जाएगा, मेले में कुश्ती का भी आयोजन होगा। राकेश मद्धेशिया, दुर्गेश कन्नौजिया, सिरजन वर्मा, अवधेश गिरी, शत्राजीत, शंभू, भाजपा नेता घनश्याम गोरखपुरी आदि मौजूद रहे।

सीता-विवाह का प्रसंग सुन हर्षित हुए श्रद्धालु

रगडगंज क्षेत्र के गांव सिधावें के टोला भड़कुलवा में चल रहे शतचंडी महायज्ञ के दौरान गुरुवार को कथा वाचक अंजु शास्त्री ने सीता विवाह का प्रसंग सुनाया। जिसे सुन श्रद्धालु हर्षित हो उठे।

उन्होंने कहा कि जब सीता जी छोटी थीं तब राजा जनक ने उन्हें शिव जी के उस धनुष एक जगह से उठा कर रखते हुए देखा जिसे कोई हिला भी नहीं पाता था। राजा ने प्रतिज्ञा की कि जो इस धनुष को उठा देगा, सीता का विवाह उसी से होगा। सीता जब बड़ी हुई तो स्वयंवर का आयोजन हुआ।

कथा का शुभारंभ पूर्व मंत्री ब्रम्हाशंकर त्रिपाठी ने व्यास गद्दी व रामचरित मानस की पूजा कर किया। कमेटी के सदस्यों ने पूर्व मंत्री को रामायण ग्रंथ देकर सम्मानित किया। आदित्य सिंह, अनिल मद्धेशिया, हरिहर यादव, ओमप्रकाश शुक्ल, राजेश पांडेय, अजय तिवारी, रम्मन शाही, भीम, राहुल अरदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran