कुशीनगर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कमजोर नींव पर मजबूत दीवार खड़ी नहीं की जा सकती। यदि देश का बच्चा कमजोर होगा, तो देश मजबूत नहीं बन सकेगा। जब देश के नागरिक स्वस्थ होंगे, तभी देश मजबूत होगा। आप सब डिजिटल इंडिया के मूवमेंट को ताकत दे रही हैं।

प्रधानमंत्री मंगलवार को सीधा संवाद कार्यक्रम के तहत बेहतर काम करने वाली आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, एएनएम, आशा, मुख्य सेविका बाल विकास तथा स्वास्थ्य विभाग के लाभार्थियों से संवाद कर रहे थे। पीएम ने कहा कि हमारे पूर्वज महान और विद्वान थे। किस चीज का क्या महत्व है, इसे इन्होंने सही ढंग से बताया है। स्थानीय पर्वों के जरिए सामाजिक बुराइयों को दूर करें। सामूहिकता की अपनी ताकत होती है। छत्तीसगढ की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता शांति साहू ने कहा कि माताएं जागरुक हुई हैं। पोषण माह मनाया जा रहा है। संतुलित आहार व स्वच्छता के बारे में जानकारी दी जा रही है। लखीमपुर खीरी की मुख्य सेविका बाल विकास गायत्री देवी ने कहा कि वे आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के साथ काम कर रही हैं। उत्तर प्रदेश सरकार हर एएनएम सेंटर पर बुधवार को सुपोषण स्वास्थ्य मेले का आयोजन लोगों को जागरुक कर रही है। लोगों में इस मेले को लेकर काफी उत्साह है। मध्य प्रदेश की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता फूलकली प्रजापति ने कहा कि पहले हम ग्रोथ चार्ट पेंसिल से भरते थे। अब स्मार्टफोन के जरिए यह काम आसानी से कर ले रहे हैं। वजन तौलने के बाद जो बच्चे अति कुपोषित मिले, उन्हें पोषण पुर्नवास केंद्र भेज उनका ख्याल रखें। सीध संवाद कार्यक्रम सुनने के लिए जिला मुख्यालय स्थित विकास भवन, कलेक्ट्रेट, मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय, बाल विकास कार्यालय, छावनी स्थित तहसील में विशेष इंतजाम किया गया था। डीएम डा.अनिल कुमार ¨सह ने कहा कि प्रधानमंत्री के सीधा संवाद कार्यक्रम को लेकर विशेष इंतजाम किया गया था, जनपद में आयोजन पूरी तरह सफल रहा है।

---

इंसर्ट

प्रधानमंत्री ने स्वास्थ्य रक्षा का किया आह्वान

मथौली बाजार, कुशीनगर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को सुबह 10 बजे सीधा संवाद कार्यक्रम में स्वास्थ्य की रक्षा के लिए जागरूक होने का आह्वान किया तो परिश्रम से काम कर कर्तव्यों के बेहतर ढंग से निर्वहन की अपील भी की। विकास खंड मोतीचक के मथौली बाजार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परिसर में सीधा संवाद से रूबरू होने के लिए टीवी की व्यवस्था की गई डाक्टर, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा व अन्य स्वास्थ्य कर्मियों ने बैठ कर सुना और अमल करने का संकल्प लिया। प्रधानमंत्री ने सभी स्वास्थ्य कर्मियों को मेहनत से कार्य करने को कहा। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय दोगुना करने की भी बात कही। व्यवस्थागत खामियों के चलते सीधा संवाद देख रहे कर्मचारियों को अव्यवस्था का सामना करना पड़ा। अस्पताल में बैठने से लेकर पेयजल की किल्लत साफ जाहिर होता दिखा। इस दौरान डा. सरफरोज अहमद, सुनील कुमार, राजेश, सच्चिदानन्द तिवारी, अरूण कुमार आदि मौजूद रहे।

---

सीधा संवाद में मची भगदड़, आठ घायल

---

दुदही: पीएम के सीधा संवाद कार्यक्रम को सुनने के लिए सीएचसी दुदही में मंगलवार को विशेष आयोजन किया गया था। इस अवसर पर बड़ी संख्या में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता उपस्थित थीं। सीएचसी प्रभारी डा. एके पांडेय व प्रभारी सीडीपीओ शांति पांडेय की मौजूदगी में कार्यक्रम शुरू ही हुआ था कि अचानक जनरेटर से तेज धुंआ निकलने लगा। यह देख किसी ने आग लगने की अफवाह फैला दी। आग लगने की खबर पर सीएचसी बरामदे में अफरा-तफरी मच गई। एकत्रित आंगनबाड़ी व आशा कार्यकर्ता शोर मचाते हुए तेजी से बाहर की तरफ भागने लगीं। दौड़ भाग में दुदही बाल विकास की मुख्य सेविका सरस्वती देवी 47, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सरोज देवी 43, बरवा बभनौली की आशा कार्यकर्ता आशा देवी 35, धर्मपुर की आशा कार्यकर्ता सुनीता देवी 32, अमवां खास की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता किरन गुप्ता 30, गौरीश्रीराम की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता 30, संगीता पांडेय 30, नूरजहां 33 फर्स पर गिर कर घायल हो गईं। सूचना पर पहुंची पुलिस व स्वास्थ्यकर्मी घायलों को सीएसी में भर्ती कराया। सीएचसी प्रभारी डा.पांडेय ने कहा कि सभी को मामूली चोटें आईं हैं। प्राथमिक इलाज बाद सभी को छुट्टी दे दी गई। उधर आशा व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने अव्यवस्था के लिए सीएचसी प्रभारी डा.एके पांडेय को जिम्मेदार बताते हुए दोपहर में उनके आवास का घेराव किया। सूचना पर पहुंचे एसओ गोपाल पांडेय ने घेराव कर रही कार्यकर्ताओं को समझा-बुझाकर शांत कराया।

Posted By: Jagran