कुशीनगर: जिले के माध्यमिक विद्यालय भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान, वनस्पति विज्ञान, गणित, अंग्रेजी, अर्थशास्त्र जैसे महत्वपूर्ण विषयों के शिक्षकों की कमी से जूझ रहे हैं। इससे दो-चार हो रहे बच्चों के सुनहरे भविष्य पर भी सवाल खड़ा है। बीते तीन वर्ष से नियुक्ति नहीं हुई। मानदेय आधारित शिक्षकों के भरोसे बच्चों की पढ़ाई गति नहीं पकड़ पा रही है। प्रयोगशालाओं में प्रयोगात्मक कार्य भी ठीक ढंग से व नियमित नहीं हो पा रहे हैं। प्रबंधन शिक्षकों की कमी का रोना रो रहा हे तो अफसर आयोग से चयन न होने की दुहाई दे रहे हैं। प्रत्येक वर्ष तैनाती की मांग को लेकर अधियाचन किया जाता है, लेकिन बात वहीं की वहीं रह जाती है। जला विद्यालय निरीक्षक ने कहा कि शिक्षकों की कमी से विभाग जूझ रहा है। शिक्षण कार्य प्रभावित हो रहा है। जिले में रिक्त 754 पदों पर तैनाती के लिए विभागीय स्तर पर अधियाचन किया गया है। उम्मीद है कि रिक्त पदों पर आयोग से शिक्षकों की तैनाती हो जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस