कुशीनगर: दुदही विकास खंड के अमवाखास गांव के टोला बरवापट्टी स्थित शिव मंदिर परिसर में मंगलवार से शुरू हुए सात दिवसीय प्राण प्रतिष्ठा महायज्ञ का शुभारंभ कलश यात्रा के साथ हुआ। गाजे-बाजे, हाथी, घोड़े के काफिले के साथ महिलाएं व कन्याएं हर-हर महादेव व जयश्रीराम का जयघोष करते निकलीं तो तो वातावरण भक्तिमय हो उठा। आचार्य बृजेश पाण्डेय और उनके सहयोगियों ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच पूजन-अर्चन करा कर कलश यात्रा को रवाना किया। यात्रा में शामिल श्रद्धालु पिपरही बाजार, दशहवा, घोबीघटवा, धोकरहा, उल्टहवां, कान्ही टोला, बिचपटवा, अमवादीगर, हीरासोती, भुइधरवा सहित दर्जनों गांवों का भ्रमण करते हुए नारायणी नदी के बरवापट्टी घाट पर पहुंचे। जहां विधि विधानपूर्वक कलश में जल भरा गया। सिर पर कलश लिए महिलाएं व कन्याएं यज्ञस्थल पर पहुंची। मुख्य यजमान धर्मेन्द्र तिवारी, अनिल तिवारी, अधिराज तिवारी, छोटेलाल तिवारी, सरल तिवारी द्वारा पूजन-अर्चन के बाद कलश स्थापित कराया गया। आयोजक मंडल दल ने बताया कि महऋषि वेद व्यास गुरुकुल विधा पीठ नागलोई, नई दिल्ली से आए कथावाचक आचार्य राकेश द्विवेदी द्वारा प्रवचन किया जाएगा। सातवें दिन हवन एवं भंडारा के साथ होगा। इस दौरान थानाध्यक्ष शाह मोहम्मद, एसआई रमाशंकर यादव, अछैयवर मल्ल, प्रमोद तिवारी, विनय तिवारी, वीरेंद्र तिवारी, राजन, त्रिपुरारी तिवारी, तारकेश्वर तिवारी, सुबाष गुप्ता, राजन तिवारी, गुरुप्रकाश मिश्र, करुणा निधान त्रिपाठी, अनिरुद्ध यादव, बबलू भारती आदि मौजूद रहे।

By Jagran