कुशीनगर: उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग की पेइंग गेस्ट योजना कुशीनगर में लागू नहीं हो सकी है। विभाग ने पर्यटक स्थल कुशीनगर, सारनाथ, पिपरहवा, संकिसा, श्रावस्ती और कौशांबी में पेइंग गेस्ट व्यवस्था शुरू करने का आदेश जारी किया था, लेकिन यह योजना कुशीनगर में धरातल पर नहीं उतर सकी है। रोजगार के साथ विदेशी पर्यटकों को भारतीय परिवार की जीवन शैली से परिचित कराना योजना का उद्देश्य है।

योजना के तहत पेइंग गेस्ट के लिए कम से कम पांच कमरों वाले भवन की व्यवस्था करनी होती है। भवन ऐसे स्थान पर होना चाहिए जहां आवागमन की सुविधा हो। भवन सुसज्जित, आकर्षक और अंदर व बाहर से प्रदूषण रहित हो। शर्त यह भी है कि भवन स्वामी स्वयं दो कमरों के साथ भवन में ही निवास करेगा। विदेशी पर्यटकों के मामले में पासपोर्ट विवरण और अन्य जरूरी सूचनाएं प्रशासन को उपलब्ध कराएगा। विभाग का मानना है कि इस योजना से रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। भवन स्वामी को आय होगी और पर्यटकों को भी सस्ते दर पर आवास की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। इसके साथ ही पर्यटक स्थानीय रीति-रिवाज, परंपरा और संस्कृति से भी परिचित हो सकेंगे।

---------

फोटो 9 पीएडी- 23

-उप्र पर्यटन ने पेइंग गेस्ट योजना को सन 2000 में लांच किया था। इसका व्यापक प्रचार-प्रसार भी किया गया। अब तक इस योजना के लिए किसी ने भी आवेदन नहीं किया है। लोगों को जागरूक करने का प्रयास आज भी जारी है।

राजेश कुमार भारती, पर्यटक सूचना अधिकारी, कुशीनगर

कार्यकर्ताओं को दी बूथ प्रबंधन की जानकारी

विधानसभा चुनाव का एलान हो चुका है, रैली और बैठकें वर्चुअल ही करनी है। पार्टी की ओर से इसकी तैयारी पूरी कर ली गई है। इस चुनाव में प्रचार के तरीके पूरी तरह वर्चुअल होंगे। इसी आधार पर हम सभी को कार्य करने होंगे।

यह बातें भाजपा के जिला महामंत्री और बूथ प्रबंधन के जिला प्रभारी संतोष दत्त राय ने कही। वह बूथ प्रबंधन को लेकर पार्टी कार्यालय में सोमवार को आयोजित कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कुशीनगर में जिला, मंडल, शक्ति केंद्र, बूथ, पन्ना प्रमुख, सभी मोर्चों और प्रकोष्ठों के लगभग दो लाख 50 हजार पदाधिकारी और सक्रिय कार्यकर्ताओं का डाटा कार्यालय में उपलब्ध है। सभी कार्यकर्ता कोविड प्रोटोकाल और चुनाव आयोग के नियमों का पालन करें। सभी बूथों पर वाट्सएप ग्रुप बन चुके हैं, इनमें चुनाव से जुड़ी जानकारियों और सरकार की उपलब्धियों को अपडेट करते रहें।

जिला मंत्री विवेकानंद शुक्ल, जिला मीडिया प्रभारी विश्वरंजन कुमार आनंद, वरुण राय, सुशील शर्मा, भीखम प्रसाद, अरुण कुमार राय, दीपक चौबे, अमर पांडेय आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran