कुशीनगर: अब लोगों को स्टांप पेपर के लिए कार्यालय, वेंडर या बैंक का चक्कर नहीं काटना पड़ेगा। इसे ऑनलाइन कर दिया गया है। इस प्रक्रिया को ई-स्टांपिग का नाम दिया गया है। स्टांप पेपर से संबंधित गवर्नमेंट रिसीप्ट जमा कराकर इसे आनलाइन प्राप्त किया जा सकता है।

यह बातें तमकुहीराज तहसील परिसर में ई-स्टांपिग सेंटर का शुभारंभ करते हुए एसडीएम एआर फारूकी ने कही। ई-स्टांपिग विभाग के एरिया मैनेजर विनय कुमार सिंह ने बताया कि इस नई प्रक्रिया से बिचौलियों की भूमिका खत्म हो जाएगी। खरीद की प्रक्रिया में 15 मिनट लगेंगे। ब्रांच मैनेजर गोरखपुर मृत्युंजय शाही ने कहा कि अभी तक एक लाख रुपये के स्टांप पेपर की एवज में बैंक को 300 रुपये का भुगतान करना पड़ता है। ब्रांच मैनेजर अनीश शुक्ल ने कहा कि इस सुविधा से दूसरे राज्यों से रजिस्ट्री कराने आने वाले लोगों को अधिक लाभ होगा। वे अब एक दिन में ही रजिस्ट्री करा सकते हैं। ई-स्टांपिग सेंटर का वरिष्ठ अधिवक्ता अरविद कुमार पाठक ने पूजन कराया। एसडीएम उपजिलाधिकारी ने फीता काट ई-स्टांपिग सेंटर का शुभारंभ किया। जगदंबा प्रसाद मिश्र अध्यक्ष स्टांप विक्रेता संघ, दिवाकर पांडेय, आलमगीर खान आदि मौजूद रहे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस