कुशीनगर: हाटा विधानसभा क्षेत्र में कुछ दिन पूर्व सपा व भाजपा के बीच बढ़ी तल्खी बुधवार को सभासदों के दो गुटों के बीच मारपीट के रूप में पूरी तरह से खुलकर सामने आ गई। विधायक पवन केडिया के बड़े भाई अमर केडिया पर एक सभासद को गाली व धमकी देने का आरोप लगा सपा समर्थित आधा दर्जन सभासद सुबह आठ बजे नगर पालिका कार्यालय के सामने धरना देना शुरू किए। नपा अध्यक्ष मोहन वर्मा द्वारा 11.30 बजे समझाबुझाकर किसी तरह धरना समाप्त कराया गया। इसके बाद कार्यालय में इसी बात को लेकर सपा व भाजपा समर्थक सभासद आपस में भिड़ गए। जमकर मारपीट हुई। इसको लेकर भगदड़ मच गई, जिसमें अपने एक निजी कार्य से गए वार्ड नंबर 10 निवासी शंकर कुशवाहा घायल हो गए। हालात इस कदर बिगड़ गए कि पुलिस हल्का बल प्रयोग करना पड़ा तब जाकर मामला शांत हुआ। इस दौरान पुलिस ने सभासद अर्जुन मौर्य, सभासद प्रतिनिधि टीपू भाई व हामिद खां को गिरफ्तार कर शांति भंग के आरोप में जेल भेज दिया। इसकी जानकारी होते ही पूर्व राज्यमंत्री राधेश्याम ¨सह, पूर्व सांसद बालेश्वर यादव, एमएलसी रामअवध यादव, रामसुंदर दास, सपा जिलाध्यक्ष इलियास अंसारी दोपहर बाद चार बजे तहसील पहुंचे और पुलिस पर एकपक्षीय कार्रवाई का आरोप लगा परिसर में धरना देने लगे। तीन घंटे बाद अपर पुलिस अधीक्षक हरिगो¨वद मिश्र व अपर जिलाधिकारी कृष्णलाल तिवारी के पहुंचने पर जेल भेजे गए तीनों सभासद के जमानत पर धरना समाप्त हुआ। देर शाम तक जेल भेजे गए सभासद रिहा नहीं हो सके थे। कोतवाल गजेंद्र राय ने कहा कि कानून व्यवस्था को हाथ में लेने का किसी को अधिकार नहीं। तीन सभासदों को जेल भेजा गया तथा 10 नामजद व 100 अज्ञात के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है।

Posted By: Jagran