कुशीनगर: कोरोना संक्रमण को लेकर सतर्कता जरूरी है। इसलिए स्वास्थ्यकर्मी संक्रमितों के घरों को चिह्नित कर निगरानी रखें। संक्रमितों से प्रतिदिन स्वास्थ्य संबंधी सुधार के बारे में जानकारी एकत्रित की जाए।

यह निर्देश जिले के नोडल अधिकारी पी गुरु प्रसाद ने दिए। वे मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में कोविड नियंत्रण की समीक्षा कर रहे थे। कहा कि अस्पतालों में मौजूद चिकित्सकीय उपकरण की क्रियाशीलता की जांच कर लें। सीएचसी पर आक्सीजन कंसंट्रेटर के साथ प्रशिक्षित कर्मचारी रहें, ताकि उसको लेकर कोई दिक्कत न आए। उन्होंने सीएमओ से कोविड संबंधी एल-टू तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर तैयारियों की अद्यतन रिपोर्ट मांगी। आक्सीजन प्लांट, वेंटिलेटर, अस्पतालों में बेड की उपलब्धता, कांटेक्ट ट्रेसिग, नमूना एकत्रीकरण, मेडकिल किट, होम आइसोलेशन, लक्ष्य के सापेक्ष टीकाकरण की प्रगति आदि की बिदुवार समीक्षा करते हुए अधिकारियों को आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए। डीएम एस राजलिगम ने नोडल अधिकारी से कोविड संबंधित जानकारियों का साझा किया। कहा कि टीकाकरण में और तेजी लाने की जरूरत है। एडीएम देवी दयाल वर्मा, सीएमओ डा.सुरेश पटारिया, सीएमएस डा.एसके वर्मा, परियोजना निदेशक राजनाथ भगत, डा.मनोज राय आदि संबंधित अधिकारी मौजूद रहे। हर घंटे पोर्टल की करें जांच

कोविड नियंत्रण की नियमित समीक्षा बैठक मंगलवार को इंटीग्रेटेड कोविड कमांड कंट्रोल सेंटर में हुई, जिसमें डीएम एस राजलिगम ने कहा कि हर घंटे पोर्टल की जांच कर अद्यतन रिपोर्ट तैयार करें। नियमित तौर पर कोविड मरीजों की संख्या व उनकी स्थिति,कांटेक्ट ट्रेसिग अपडेट होती रहे। सख्त लहजे में कहा कि इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। कहा कि जिस गांव के संक्रमित हैं, वहां के प्रधान से बातचीत कर सूचित करें। संक्रमण के बढ़ने की संभावना को देखते हुए सभी निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाना सुनिश्चित किया जाए। अपर पुलिस अधीक्षक रितेश कुमार सिंह, एसडीएम गोपाल शर्मा आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran