कुशीनगर : पथिक निवास परिसर स्थित पर्यटन कार्यालय में स्थापित कोरोना हेल्प डेस्क का रविवार को सुबह 10:30 बजे विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी ने औचक निरीक्षण किया। चिकित्साधिकारी डॉ. अजीत कुमार चौधरी के अनुपस्थित रहने पर नाराजगी जताते हुए सीएमओ से बात की। कहा कि ऐसे समय जबकि कोरोना वायरस महामारी का रूप ले चुका है। इसमें लापरवाही क्षम्य नहीं है। कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय पर्यटक स्थली है। यहां भारतीय व विदेशी पर्यटकों का आना जाना लगा हुआ है। इसलिए और सावधानी व सतर्कता बरतने का इंतजाम रहे।

विधायक ने डेस्क पर रखे पर्यटकों के हेल्थ रिपोर्ट कार्ड का अवलोकन किया। कुछ आवासीय इकाइयों से सूचना के बावजूद हेल्थ रिपोर्ट कार्ड डेस्क तक न आने पर स्वास्थ्य कर्मचारियों को आवश्यक निर्देश दिया। बताया कि पर्यटकों का सेल्फ डिक्लेरेशन बहुत प्रभावी नहीं है। इसे और प्रभावी ढंग से लागू करने के लिए वे मुख्यमंत्री से वार्ता करेंगे। विधायक ने कुछ होटलों का भी जायजा लिया। इसी क्रम में द रायल रेसीडेंसी के प्रबंधक पंकज कुमार ने बताया कि उन्होंने कोरोना वायरस के चलते जुलाई तक होटल बंद कर दिया है। सीएमओ डॉ. एनपी गुप्त ने कहा कि चिकित्साधिकारी मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले में गए थे। इसलिए कुशीनगर पहुंचने में कुछ विलंब हो गया। राजेश मणि त्रिपाठी, हरिवंश गुप्त, राकेश पांडेय, नथुनी गुप्त आदि उपस्थित रहे।

---

पर्यटकों की सुरक्षा की ²ष्टि से कुशीनगर में कोरोना हेल्प डेस्क स्थापित किया गया है। यहां आए रिपोर्ट का प्रतिदिन शाम को रिव्यू होता है। यदि शाम तक किसी आवासीय इकाई से हेल्थ रिपोर्ट कार्ड नहीं आएगा तो उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

भूपेंद्र एस. चौधरी, डीएम, कुशीनगर

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस