कुशीनगर: प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के तहत हाटा नगर पालिका क्षेत्र के गांधी नगर वार्ड में कई चयनित पात्रों को आवास निर्माण के लिए तीसरी किस्त का इंतजार है। धन के अभाव में कार्य ठप है। कई पात्र ऐसे हैं जो प्रथम व दूसरी किस्त से दीवार का निर्माण करा चुके हैं, लेकिन दो वर्ष से अधिक का समय बीत जाने के बाद भी तीसरी किस्त नहीं मिलने से आगे का निर्माण नहीं करा पा रहे हैं।

तीसरी किस्त के इंतजार में 50 से अधिक पात्रों का आवास अधूरा है। नगर पालिका हाटा के वार्ड संख्या 21 गांधी नगर निवासी तिलकधारी पुत्र गजई का वर्ष 2018 में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास स्वीकृत हुआ था। उसी वर्ष उनके खाते में दो किस्त भेजी गई, जिससे उन्होंने दीवार तक का निर्माण करा लिया। अबतक इनके खाते में तीसरी किस्त नहीं आई। जिससे उनका आवास अधूरा पड़ा है। इसी तरह से वार्ड की ही निवासी आत्मा पत्नी फिरंगी को आवास की दो किस्त तो मिली लेकिन तीसरी किस्त नहीं आई। वहीं सुमन पत्नी जयराम की भी तीसरी किस्त नहीं आई है।

यह है नियम

प्रधानमंत्री शहरी विकास योजना के तहत पात्रों को दो लाख पचास हजार रुपये की धनराशि स्वीकृत होती है। प्रथम किस्त के रूप में 50 हजार रुपये खाते में भेजी जाती है। नींव तक का निर्माण कार्य पूरा होने के बाद दूसरी किस्त डेढ़ लाख रुपये दी जाती है। दीवार खड़ा करने के बाद 50 हजार रुपये की तीसरी किस्त दी जाती है।

नगर पालिका के ईओ अजय कुमार सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के लिए डूडा नोडल एजेंसी है। इसके लिए नगर पालिका की ओर से डूडा को पत्र भेज कर समस्या का समाधान कराने का प्रयास किया जा रहा है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप