वैध कागजात न मिलने पर छहूं में अस्पताल सील

कुशीनगर: फाजिलनगर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की टीम ने मंगलवार की शाम छहूं चौराहा स्थित एक निजी अस्पताल की जांच की। जांच के दौरान वैध कागजात नहीं मिला और न ही चिकित्सक उपस्थित थे। टीम ने अस्पताल को सील करते हुए सीएमओ को रिपोर्ट भेजी है। क्षेत्र के रूदवलिया गांव की रहने वाली तारा देवी ने सीएमओ डा. सुरेश पटारिया से शिकायत की थी कि इस अस्पताल में झोलाछाप की लापरवाही के कारण चार वर्षीय पुत्र आयुष की अंगुली काटनी पड़ी। महिला ने संचालक पर अवैध ढंग से अस्पताल संचालन का आरोप लगाते हुए कहा है कि यहां लोगों को झांसे में लेकर इलाज के नाम पर वसूली की जा रही है। इसको गंभीरता से लेते सीएमओ ने सीएचसी अधीक्षक डा. यूएस नायक के नेतृत्व में जांच दल गठित कर मौके पर भेजा तो आरोप की पुष्टि हुई। टीम के पहुंचते ही संचालक डीटी राय फरार हो गया, जो बंगाल का निवासी बताया जा रहा है। टीम ने चिकित्सकीय कार्य के उपकरणों को कब्जे में ले लिया। सीएचसी प्रभारी ने बताया कि सीएमओ को जांच रिपोर्ट भेजी जा रही है। टीम में फार्मासिस्ट दिनेश राय, वरिष्ठ लिपिक राजकिशोर, एक्स-रे सहायक रामनयन सिंह, मोतीलाल, एसआई सौरभ कुमार यादव, अभिषेक सिंह, विनीत सिंह शामिल रहे।

Edited By: Jagran