कुशीनगर: नेबुआ नौरंगिया थाने के सरपतही बुजुर्ग गांव के लोहिया टोला में धुंअहरा की चिगारी से लगी आग की चपेट में आने से शुक्रवार को तीन रिहायशी झोपड़ियां, कपड़ा अनाज व गृहस्थी के सामान जल गए। आग बुझाने के प्रयास में एक व्यक्ति झुलस गया। एक व्यक्ति के घर में रखे गए डेढ़ लाख रुपये भी आग की भेंट चढ़ गए।

ग्रामवासी रामप्रवेश पशुओं को मच्छरों से बचाने के लिए अपनी झोपड़ी में धुंअहरा जलाए थे। उसकी चिगारी से लगी आग धीरे-धीरे विकराल रूप धारण कर अगल-बगल की झोपड़ियों को भी आगोश में ले लिया। नींद में रहे लोग जब तक कुछ समझ पाते, आग बेकाबू हो गई। आग से रामप्रवेश व नरसिंह का सब कुछ जल गया। बंधक खेत को मुक्त कराने के लिए सहायता समूह से कर्ज लेकर नरसिंह ने डेढ़ लाख रुपये घर में रखा था। रुपये भी जल गए और पैसा निकालने में असफल नरसिंह झुलस गए। ग्राम प्रधान नत्थू कुशवाहा ने पीड़ित परिवारों को राशन मुहैया कराने के साथ ही आर्थिक मदद की। शनिवार की सुबह पहुंची राजस्व टीम ने क्षति का आंकलन कर रिपोर्ट तैयार की।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस