कुशीनगर : सेवरही सीएचसी के बगल में महिला मरीजों के लिए बने 30 शैया वाले महिला विग सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का बुरा हाल है। यहां तैनात चिकित्सक व कर्मचारी उपस्थिति पंजिका पर हस्ताक्षर बनाकर अक्सर गायब रहते हैं। महिला मरीजों को लंबा इंतजार करना पड़ता है तो कई बार बिना इलाज बैरंग लौटना पड़ता है।

जागरण टीम ने जब परिसर का भ्रमण किया तो भारी गंदगी दिखी। पीने के पानी का इंतजाम भी नहीं दिखा। मरीज इधर उधर भटकते मिले। ओपीडी में महिला चिकित्सक डॉ. बीनू गुप्ता उपस्थिति पंजिका में बिना किसी सक्षम अधिकारी से छुट्टी का आवेदन स्वीकृत कराए प्रार्थना पत्र रखकर गायब थी। चीफ फार्मासिस्ट डीके राय, फार्मासिस्ट कांती बाला, स्टाफ नर्स सुनीता व वार्ड ब्वाय मनीष कुमार मिश्र अपने कक्ष में उपस्थित पाए गए। डॉ. अन्नू सोनी 19 जुलाई से चिकित्सा अवकाश पर चल रही हैं। सिराजनगर से आई सपना टीकाकरण के लिए सुबह से चिकित्सक का इंतजार करती मिली। दीपमाला तिवारी ठकरहां, सिधु मिश्रा ठकरहां व संगीता देवी बांसगांव से दवा कराने आई थीं, लेकिन चिकित्सक के न होने से परेशान थीं। सीएमओ डॉ. एनपी गुप्त ने कहा कि लापरवाह चिकित्सक व कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस