कुशीनगर : कसया ब्लाक संसाधन केंद्र के 57 प्राथमिक शिक्षकों की गायब सेवा पुस्तिका (सर्विस बुक) के मामले में डीएम डॉ. अनिल कुमार सिंह काफी सख्त हैं। उन्होंने जिम्मेदारों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है। बीएसए को दिए गए निर्देश में दोषी अधिकारी व कर्मचारी पर अन्य आवश्यक कार्रवाई कर अवगत कराने को कहा है। इस कार्रवाई के बाद विभाग में हड़कंप मचा हुआ है।

शिक्षकों की सेवा पुस्तिका वर्ष 2018 से ही गायब है। इनमें प्राथमिक के 38 व माध्यमिक के 19 शिक्षक शामिल हैं। इनमें 45 महिला शिक्षक हैं। सेवा पुस्तिका गायब होने को लेकर जिम्मेदार एक दूसरे पर आरोप मढ़ रहे हैं। गायब सेवा पुस्तिका की सूची बीआरसी प्रकाशित हो चुका है। पर गायब पुस्तिकाओं की खोज की गई और न ही मुकदमा दर्ज कराया गई। आरोप है कि विभाग ने ऐसे शिक्षकों के आवेदन के बाद भी द्वितीय सेवा पुस्तिका बनाने में कोई पहल नहीं की। बिना सेवा पुस्तिका के शिक्षकों का वेतन, एरियर, छुट्टी, मेडिकल, वेतन बढोत्तरी आदि सुविधाएं भी प्रदान किया जा रहा है।

ि बना बुक के वित्तीय स्वीकृति भी दी जा रही है। इससे विभागीय कार्यप्रणाली पर भी उंगलियां उठ रही हैं। बीआरसी से जुड़े शिक्षक राजीव नयन द्विवेदी ने मामले को डीएम के समक्ष रखते हुए उन्हें पत्रक सौंपा, तो उन्होंने मामले को गंभीरता से लिया और बुधवार को कड़ी कार्रवाई किए जाने का आदेश दिया।

-----

यह प्रकरण गंभीर है। बीएसए को जांच कर संबंधित अधिकारी/कर्मचारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने व विभागीय कार्रवाई करने का आदेश दिया गया है। Xह्नह्वश्रह्ल;

डॉ. अनिल कुमार सिंह, जिलाधिकारी, कुशीनगर

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस