कुशीनगर: वैश्विक महामारी को लेकर सरकार के निर्देश पर शुक्रवार की रात आठ बजे से कोरोना क‌र्फ्यू लागू हो गया है, जो सोमवार की सुबह सात बजे तक प्रभावी रहेगा। बंदी के लिए प्रशासनिक स्तर पर व्यापक इंतजाम किया गया है। जिले के सभी प्रमुख चौराहों के अलावा गांव के बाजार व कस्बे भी बंद रहेंगे। किसी प्रकार की कोई गतिविधियां संचालित नहीं होगी। सोमवार की सुबह सात बजे के बाद ही दुकानें निर्धारित अवधि में खुलेंगी। पांच दिन दुकानें खुलने के नियम में नाइट क‌र्फ्यू रात आठ बजे से अगले दिन सुबह सात बजे तक लागू रहेगा। इस दो दिन की बंदी में केवल आवश्यक सुविधाएं ही बहाल रहेंगी। बंदी को लेकर बाजारों में रही भीड़

-दो दिन की बंदी को लेकर शुक्रवार को सब्जी से लेकर किराना की दुकानों पर जरूरी सामान खरीदने वालों की भीड़ लगी रही तो दवा की दुकानों पर भी सर्दी-बुखार व खांसी की दवा खरीदने वाले डटे रहे। हाईवे पर नहीं रहेगा प्रतिबंध

-फोरलेन से गुजरने वाले वाहनों पर कोई प्रतिबंध नहीं रहेगा। इसके अलावा बाहर से आने वाली बसों पर भी निगरानी रहेगी। अन्य प्रांतों से आने वालों की प्रारंभिक जांच की जाएगी। इसके अलावा कुशीनगर बार्डर से लगे बिहार की गांवों से लगी सीमाएं सील रहेंगी। सख्ती से होगा पालन

-एडीएम विन्ध्वासिनी राय व एएसपी अयोध्या प्रसाद ने कहा कि कोरोना क‌र्फ्यू का कड़ाई से अनुपालन होगा। इसमें वाहन चलाते व सड़क पर घूमते मिलने पर संबंधित के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। कहा कि सभी थाना क्षेत्रों में थानेदार से लेकर चौकी इंचार्ज और पुलिस कर्मी पेट्रोलिग में रहेंगे। इलाज व अस्पतालों पर नहीं रहेगा प्रतिबंध

-आवश्यक सेवाओं में मरीज के इलाज, सरकारी व निजी अस्पतालों में कोई प्रतिबंध नहीं रहेगा। इसके अलावा सफाई व स्वास्थ्य कर्मी तथा चुनाव ड्यूटी वाले परिचय पत्र दिखा कर आ-जा सकेंगे। दवा की सभी दुकानें निर्धारित समय प्रतिदिन खुलेंगी। जिला स्तर पर अग्निशमन विभाग द्वारा नगर निगम /नगर पंचायत स्तर पर एवं चीनी मिलों के द्वारा स्वच्छता सफाई का विशेष अभियान चलाकर सैनिटाइजेशन व फागिग की जाएगी। वैवाहिक कार्यक्रमों पर कोई प्रतिबंध नहीं

-शनिवार व रविवार को पूर्व निर्गत आदेशों के अनुरूप कोविड-19 प्रोटोकाल का अनुपालन सुनिश्चित कराते हुए सभी शादी के समारोह में बंद स्थानों पर 50 व्यक्ति व खुले स्थानों पर 100 व्यक्ति मास्क व शारीरिक दूरी के साथ सैनिटाइजेशन का प्रयोग के साथ अन्य सावधानियों के साथ अनुमति होगी। सार्वजनिक परिवहन को विशेष रूप से राज्य परिवहन की बसों में 50 फीसद क्षमता के साथ चलने की अनुमति होगी। अन्तिम संस्कार के लिए अधिकतम 20 व्यक्तियों को शामिल होने की अनुमति होगी। मीडिया कर्मियों को परिचय पत्र के आधार पर आवागमन की अनुमति होगी। इसके लिए सभी एसडीएम को निर्देश दिए गए हैं।

जमाखोरी या अधिक मूल्य लेने पर होगी कड़ी कार्रवाई

एस राजलिगम, डीएम ने बताया कि कोरोना वैश्विक महामारी घोषित हो चुकी है। अपना देश भी गंभीर हालातों से गुजर रहा है। ऐसे में समाज के सभी अगुवा, व्यापारी प्रबुद्ध जनों को आगे आकर समाज को दिशा देने की जरूरत है। इन गंभीर हालातों में कुछ लोग फायदा उठाने की कोशिश कर रहे हैं। बाजार में रोजमर्रा के आवश्यक वस्तुओं के दाम बढ़ाए जाने की सूचना मिल रही है। कुछ खाद्य पदार्थ ऊंचे मूल्य पर बेचे जा रहे हैं। यह पूरी तरह गैर कानूनी है। प्रशासन इस पर एक्शन लेगा। बाजार की जांच कराकर दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सभी एसडीएम को निगरानी टीम का गठन करने का निर्देश दिया गया है। टीम गुपचुप ढंग से बाजार में सामान की खरीदारी करेगी। जमाखोरी अथवा निर्धारित दर से अधिक मूल्य पर यदि कोई सामान बिकता पाया गया, तो संबंधित व्यापारी व दुकानदार को कानून की सुसंगत धाराओं में दंडित किया जाएगा। सभी व्यापारियों से अपील की है कि इस हालात में जनता और प्रशासन का सहयोग करें।