कुशीनगर : प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तीसरे चरण में बुधवार को वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ग्रामीण मार्गों का लोकार्पण किया। इनमें जिले की 13 सड़कें शामिल हैं। सीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत हाट मिक्स व एफडीआर (फुल डेफ्थ रिक्लेमेशन एवं सायल स्टेबलाइजेशन) पद्धति से सड़कों का निर्माण किया जा रहा है, इसका प्रयोग यूपी में पहली बार हो रहा है।

इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से पूछा कि निर्माणाधीन सड़कों का उन्होंने मौके पर निरीक्षण किया है। कार्य गुणवत्तापरक होना चाहिए। विकास के लिए पैसे की कमी नहीं है, लेकिन पैसे का खर्च सही जगह होना चाहिए। उन्होंने कांट्रेक्टर को समय से भुगतान तथा उसकी नियमित मानिटरिग के निर्देश दिए। मातृभूमि योजना की चर्चा करते हुए कहा कि ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत तथा जिला पंचायत को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में इस योजना के माध्यम से कार्य किया जा सकता है। गांव में ओपन जिम, ग्रामीण स्टेडियम, चिकित्सा, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, आंगनबाड़ी, पुस्तकालय, व्यायामशाला, सीसीटीवी कैमरा, अंत्येष्टि स्थल, बस स्टेशन, सोलर प्रकाश, पशु नस्ल सुधार केंद्र को जोड़ने की जरूरत है। सीएम के संबोधन के बाद सांसद, विधायक व जिला पंचायत अध्यक्ष ने विभिन्न 13 परियोजनाओं का लोकार्पण किया। इस दौरान कलेक्ट्रेट स्थित एनआइसी कक्ष में सांसद विजय कुमार दूबे, विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी, जिला पंचायत अध्यक्ष सावित्री जायसवाल, डीएम एस राजलिगम, सीडीओ अनुज मलिक आनलाइन जुड़े रहे।

अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत विध्याचल कुशवाहा, जिला पंचायत के पूर्व अध्यक्ष प्रदीप कुमार जायसवाल, जिला पंचायतीराज अधिकारी अभय कुमार यादव, अधीक्षण अभियंता प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना अबरार अहमद, सहायक अभियंता आशुतोष अरोड़ा, अवर अभियंता विजय सेन सिंह आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran