कुशीनगर : त्रिस्तरीय पंचायत उपचुनाव में रिक्त रहीं 70 सीटों पर सोमवार को मतगणना के बाद विजयी प्रत्याशियों को प्रमाण पत्र दिया गया। सुबह आठ बजे से जनपद के 10 ब्लाक मुख्यालयों पर शुरू हुई मतों की गिनती के दौरान सुरक्षा के व्यापक इंतजाम रहे।

विशुनपुरा,दुदही, तमकुही में दो-दो टेबल व बाकी सात ब्लाकों में नेबुआ नौरंगिया, सेवरही, कसया, हाटा, मोतीचक, कप्तानगंज, फाजिलनगर में एक-एक टेबल पर वोटों की गिनती हुई। सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी श्याम नारायण प्रसाद ने बताया कि प्रत्येक टेबल पर चार मतदान कर्मी लगाए गए थे। कसया ब्लाक के गांव पिपराझाम में प्रधान पद की प्रत्याशी दुर्गावती देवी 630 मत पाकर विजयी घोषित हुई। इनको कुल 1016 वोट मिले, जबकि प्रतिद्वंद्वी मनोहर सिंह को 386 मत मिले। 43 मत अवैध घोषित किए गए। इसके अलावा बीडीसी की 11 सीटों पर 54 तथा 58 ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए 122 उम्मीदवार शामिल मैदान में थे।

नेबुआ नौरंगिया विकास खंड के तीन गांवों में ग्राम पंचायत सदस्य के रिक्त चार पदों के लिए हुए चुनाव में बभनौली में राजकुमार, पिपरा बुजुर्ग में रमावती, देवगांव में ज्योति व सुशील प्रताप निर्वाचित हुए। कप्तानगंज ब्लाक क्षेत्र के कोटवा से ग्राम पंचायत सदस्य हीरामती देवी विजयी हुई। ब्लाक क्षेत्र विशुनपुरा के छह क्षेत्र पंचायत सदस्यों में दुबौली में वार्ड संख्या 63 पर मुन्नी देवी, वार्ड संख्या 64 पर साबिर अली, वार्ड संख्या 94 गम्भीरिया पर चंद्रकला देवी, वार्ड संख्या 89 से परमा चौहान, वार्ड संख्या 79 से रनिता देवी, वार्ड संख्या 88 पर मीना देवी निर्वाचित घोषित हुई।

दुदही विकास खंड के सात ग्राम पंचायतों में एक क्षेत्र पंचायत व 15 ग्राम पंचायत सदस्यों के चुनाव परिणाम की घोषणा निर्वाचन अधिकारी मानिक चंद्र सिंह ने की। बताया कि शाहपुर उचकी पट्टी से बीडीसी अभिमन्यु, ग्राम पंचायत सदस्य में सोरहवां से ऊषा, जंगल घोरठ से मैनेजर, प्रियंका, नियाज, अल्ताफ रजा, रोजेनेशा, बांसगांव से ऐशा खातून,तिलक पटटी से मनु,अहिरौली से लीलावती देवी, अरविद, धर्मेन्द्र, इमरान, सकीरन, फूलमती, श्याम पति निर्वाचित घोषित हुए।

फाजिलनगर ब्लाक के चार ग्राम पंचायतों के वार्ड सदस्यों की मतगणना सोमवार को संपन्न हुई। लवकुश पूरब पट्टी से कमलावती, साबित्री, शिवनरायन, नब्बी रसूल, झबिया, जग्गू, राज कुमार व भोला निर्वाचित हुए। बड़हरा से वंदना, मधुरिया से सोनू व रिन्टू तथा शेरपुर बड़हरा से संगीत वार्ड सदस्य चुने गए। आरओ विजय कुमार पांडेय ने उन्हें प्रमाण पत्र सौंपा।

देवेंद्र की पत्नी दुर्गावती चुनी गईं प्रधान

ब्लाक के गांव पिपराझाम में देवेंद्र सिंह के परिवार ने लगातार पांच कार्यकाल में प्रधान का दायित्व निभाकर इतिहास रचा है। वर्ष 2000 में पहली बार ग्राम प्रधान चुने गए थे। इसके बाद 2005 से 2021 तक तीन कार्यकाल उनकी पत्नी दुर्गावती देवी प्रधान रहीं। 2021 त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में भी वह प्रधान बने गए थे। कोरोना संक्रमण से उनकी मृत्यु हो गई। रिक्त हुए स्थान पर उपचुनाव में उनकी पत्नी दुर्गावती देवी चुनाव लड़ीं। यह उनकी चौथी जीत है।

Edited By: Jagran