कुशीनगर : श्रम विरोधी नीतियों के विरोध में बैंक व बीमा कर्मचारी बुधवार को हड़ताल पर रहे। इसका असर हुआ कि एसबीआई व कुछ को छोड़ अधिकतर बैंकों में ताले लटके रहे। इस दौरान बैंक पहुंचे खाताधारकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

केंद्रीय कर्मचारी संगठन व आल इंडिया इंश्योरेंस एंपलाइज एसोसिएशन के आह्वान पर भारतीय जीवन बीमा निगम लिमिटेड, पंजाब नेशनल बैंक, बैंक आफ इंडिया, आंध्रा बैंक सहित अधिकतर बैंक के कर्मचारी हड़ताल पर रहे। कर्मचारियों का कहना था कि भारत सरकार के श्रम विरोधी नीतियों के विरोध में देश भर में बैंक व बीमा कर्मी एकदिवसीय हड़ताल पर हैं।

सरकार कर्मचारी हितों के विरुद्ध कार्य कर रही है। सरकार के निर्देश पर वित्त मंत्रालय द्वारा तैयार की गई श्रम संहिता में कर्मचारियों के हितों का तनिक ख्याल नहीं रखा गया है। बीमा कर्मचारियों ने कहा कि हम भारतीय जीवन बीमा निगम को शेयर मार्केट में लाने की नीति पर रोक लगाने तथा बीमा क्षेत्र में एफडीआई बढ़ाने की कोशिश बंद करने, नयी पेंशन योजना समाप्त कर पुरानी पेंशन योजना लागू करने, 2017 से लंबित वेतन पुर्निनर्धारण पर सार्थक वार्ता शुरू करने, बीमा किश्त पर जीएसटी वापस लिए जाने तथा श्रम संहिता के नाम पर कानूनों में श्रमिक विरोधी परिवर्तनों पर रोक लगाने की मांग करते हैं।

कामरेड अरविद शर्मा, सुधीर कुमार वर्मा, दिनेश सिंह, विजय शर्मा, राजेश मिश्र, बृजकिशोर प्रसाद, रजनीश रंजन, अरविद सिंह, राजकिशोर चौहान, सुभाष प्रसाद, आशुतोष कुमार, अजितेश, जगदीश सिंह, राजकुमारी आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस