कुशीनगर : मानदेय वृद्धि की मांग को लेकर एसोसिएशन की अध्यक्ष इंद्रावती देवी के नेतृत्व में गुरुवार को आशा कार्यकर्ताओं व संगिनी ने कामकाज ठप कर कप्तानगंज सीएचसी गेट पर धरना दिया।

एसोसिएशन की अध्यक्ष इंद्रावती ने कहा कि हम लोग शासन की ओर से संचालित सभी कार्यक्रमों में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करते हैं। जो दायित्व सौंपा जाता है, उसका ईमानदारी से निर्वहन करते हैं। गांव-गांव जाकर लोगों को जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे में जानकारी देते हैं, लेकिन हम लोगों को नाम मात्र की प्रोत्साहन राशि मिलती है। प्रतिमाह 10 हजार रुपये मानदेय मिलना चाहिए। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की तरह हमारी नियुक्ति कर उनके समकक्ष सम्मान दिया जाए। प्रेमलता सिंह, संगीता साहनी, सितारा देवी, अर्चना श्रीवास्तव, मीरा देवी, जुलेखा खातून, संगीता मद्धेशिया, फूलपति देवी, सरोज, बिदू, सीमा आदि मौजूद रहीं।

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खड्डा परिसर में आशा कार्यकर्ताओं ने धरना दिया। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर हमारी मांगें पूरी नहीं की गई तो दस्तक अभियान में शामिल नहीं होंगी। दुर्गावती देवी, शशिकला देवी, जानकी देवी, मालती देवी, अमरावती देवी, उर्मिला देवी, सरोज गिरी, संभा देवी, सावित्री देवी, मालती देवी, सरस्वती देवी, लवंगी देवी, जानकी देवी आदि मौजूद रहीं।

दुदही सीएचसी परिसर में गुरुवार को आशा कार्यकर्ताओं ने चार सूत्रीय मांगों को लेकर आशा संगिनी संघ की अध्यक्ष किरन राय व आशा कार्यकर्ता संघ की अध्यक्ष रीता पटेल की अगुआई में धरना प्रदर्शन किया। इसके बाद मांगों से संबंधित पत्रक सीएचसी प्रभारी डा. एके पांडेय को सौंपा।

धरना देने वालों में किरन तिवारी, शीला देवी, कृष्णा देवी, सुशीला देवी मीना देवी, अनिता देवी, सुमन चौरसिया, शशि यादव, ममता देवी, शहनाज खातून, तारा देवी, उर्मिला देवी, सुनीता चौहान, रिकी देवी, बिदु चौबे, मीरा देवी, सीता देवी, सविता डालमिया, शशिकला देवी, शांति सिंह, गिरजा देवी आदि शामिल रहीं।

Edited By: Jagran