कुशीनगर : तरयासुजान थाना क्षेत्र के सीमावर्ती इलाकों में संपर्क मार्गों के जरिये पशु तस्करी धड़ल्ले से हो रही है।

थाना क्षेत्र के डिबनी बाजार, बहादुरपुर, तिनफेड़ियां, अहिरौलीदान, सिसवा नाहर बिहार प्रांत से जुड़े हैं। पिकअप लदे पशु अक्सर दोपहर दो बजे से शाम पांच बजे के बीच सलेमगढ़, मुकुंदपुर वाया तरया लच्छीराम गांव होते बिहार निकल रहे हैं। इसी तरह रात में तीन बजे से सलेमगढ़ बाजार, बहादुरपुर गांव से होते हुए जा रहे हैं। इसी चौकी के सरेया गंडक नहर मार्ग और टड़वां नैनुपहरु मार्ग से बिहार की ओर पशुओं की गाड़ी निकल रही है।

पुलिस चौकी डिबनी बाजार की मुख्य सड़क एनएच 28 लिक रोड बनवरियां परसौनी होते डिबनी बंजरवा गांव होकर पशुओं से भरे चार पहिया वाहन बिहार जा रहे हैं। पुलिस चौकी तिनफेड़ियां के हबीबपुर गांव, जमसड़िया और तरयासुजान सिसवा नाहर मार्ग से भी सीधे बिहार को जोड़ने वाली सड़क से पशु लदे वाहन निकल रहे हैं। थाना क्षेत्र में पशु तस्करी का खेल नया नहीं है। पकड़े जा रहे वाहन और पशु इसे साबित करने के लिए काफी हैं। ग्रामीणों ने इसके लिए सीधे-सीधे पुलिस से सांठगांठ का आरोप लगाया। सीओ फूलचंद कन्नौजिया ने कहा कि पशु तस्करी में संलिप्त लोगों के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है। शीघ्र ही पशु तस्करी पर पूरी तरह नियंत्रण कर लिया जाएगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस