कुशीनगर : स्मार्ट फोन वितरण में पैसा लेने के आरोप में अनुरागी देवी महाविद्यालय बहुआस कप्तानगंज के प्रबंधक सहित तीन के विरुद्ध मंगलवार को कप्तानगंज पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया। महाविद्यालय के छात्रों ने निश्शुल्क स्मार्ट फोन के बदले रुपये लेने का आरोप लगाया था।

18 मई को महाविद्यालय में आयोजित समारोह में स्नातक तृतीय वर्ष के 304 छात्रों को निश्शुल्क स्मार्ट फोन दिया जा रहा था। समारोह में सांसद विजय कुमार दुबे, विधायक हाटा मोहन वर्मा अतिथि रहे। समारोह में दो सौ छात्रों में स्मार्ट फोन वितरित किया गया। सांसद को कुछ छात्रों ने बताया कि शिक्षकों ने उनसे एक हजार व 18 सौ रुपये स्मार्ट फोन के नाम पर लिए हैं। कई छात्रों ने आनलाइन रुपये ट्रांसफर किए जाने की जानकारी दी। इस पर सासंद ने एसडीएम कप्तानगंज गोपाल शर्मा को जांच कर कार्रवाई का निर्देश दिया था।

जिला विद्यालय निरीक्षक मनमोहन शर्मा ने बताया कि छात्रों की शिकायत के आधार पर महाविद्यालय के प्रबंधक दीपक व शिक्षक मार्कण्डेय के विरुद्ध मुकदमा कप्तानगंज थाने में दर्ज कराया गया है। एसएचओ गिरिजेश उपाध्याय ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर विवेचना की जा रही है।

अवैध कब्जा पर चला बुलडोजर

पटहेरवा के बभनौली में मंगलवार को बुलडोजर चलाकर पट्टे की भूमि पर हुए अवैध कब्जा हटाया गया। इस दौरान पुलिस-पीएसी के जवान मुस्तैद रहे।

दोपहर बाद तमकुहीराज के तहसीलदार पुलिस, राजस्व टीम व बुलडोजर के साथ गांव में पहुंचे। टीम ने पट्टे की भूमि पर बनी झोपड़ी, पक्का निर्माण आदि को गिराना शुरू किया। कुछ महिलाएं कार्रवाई का विरोध करते हुए आगे आईं। महिला पुलिसकर्मियों ने इन्हें समझा-बुझाकर दूर हटाया। लगभग तीन घंटे की कार्रवाई में अवैध कब्जा हटाया गया।

गांव के हेमनारायण, जालिम, सुभाष आदि सहित 13 लोगों ने उच्च न्यायालय इलाहाबाद में वाद दाखिल कर पट्टे की भूमि को दबंगों से मुक्त कराने की मांग की थी। उच्च न्यायालय ने जिला प्रशासन को अवैध कब्जे को हटाने का आदेश दिया था। बीते दिनों तहसील समाधान दिवस पर आए डीएम एस राजलिगम से मिलकर पट्टाधारकों ने मदद की गुहार लगाई थी। डीएम ने तमकुहीराज तहसील प्रशासन को अवैध कब्जा हटाने का निर्देश दिया था। तहसीलदार दीपक कुमार ने बताया कि पट्टे की भूमि पर हुए अवैध कब्जे को हटाकर सभी 13 पट्टाधारकों को कब्जा दिला दिया गया।

Edited By: Jagran