कुशीनगर: कुशीनगर से गोरखपुर मेडिकल कॉलेज भेजे गए थ्रोट स्वाब के नमूनों की रविवार की शाम छह बजे तक आई 100 रिपोर्ट में 99 रिपोर्ट निगेटिव और एक पॉजिटिव है। संक्रमित युवक नगर से सटे जंगल खिरकिया नई बस्ती का रहने वाला है। 36 वर्षीय यह युवक दो दिन पहले मुंबई से आया था और मेडिकल कालेज गोरखपुर में जांच कराने गया था। उसे वहीं भर्ती कर लिया गया है। वहीं जिले में विभिन्न प्रांतों से आए 397 लोगों की थर्मल जांच की गयी। इसमें संदिग्ध मिले 124 लोगों के थ्रोट स्वाब के नमूने जांच के लिए गोरखपुर मेडिकल कॉलेज भेजे गए। नए व पुराने 521 नमूनों की जांच रिपोर्ट आनी है।

सीएमओ डॉ.एनपी गुप्त ने बताया कि अब तक 3988 की हुई जांच में 3381 निगेटिव पाए गए हैं। 86 पॉजिटिव में से 59 स्वस्थ होने पर घर भेज दिए गए हैं। पांच का गोरखपुर मेडिकल कॉलेज व 19 का राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय में लक्ष्मीपुर में इलाज चल रहा है। तीन संक्रमितों में एक का दिल्ली व दूसरे का नोएडा व तीसरे का मिलिट्री हास्पिटल में इलाज चल रहा है।

कोरोना से जंग जीत घर लौटे 17 लोग

पडरौना: राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय लक्ष्मीपुर लगभग 11 दिनों तक कोरोना से लड़े जंग में जीते तीन लोग रविवार को अपने घर पहुंचे, जिससे परिजनों व ग्रामीणों में खुशी का ठिकाना नहीं था। कप्तानगंज के अहिरौली बाजार के पिपरा बिचौरापुर निवासी लालसा निषाद एंबुलेंस से घर पहुंचे तो परिजनों ने स्वागत किया। इसी प्रकार पडरौना के बंधु छपरा निवासी हरिद्र व रवि कुमार, बतरौली तुर्कपट्टी निवासी रामू यादव, फाजिलनगर तरुअनवां निवासी मुंसरीम, बजरकरहिया निवासी अभय विश्वकर्मा, सिकंदर यादव, जितेंद्र यादव, नेबुआ के दुबौली निवासी श्रीमती, मसना मठिया जटहां निवासी अजीत मिश्र, दांदोपुर निवासी नीरज चौरसिया समेत 17 लोगों को भी लक्ष्मीपुर से डिस्चार्ज कर दिया गया। यह सभी लोग जून के पहले हफ्ते में मुंबई व दिल्ली से आए थे। जिला प्रोग्राम मैनेजर नलिन सिंह व तकनीशियन असिस्टेंट निहाल रंजन राय ने बताया कि सभी को एंबुलेंस से घर भिजवा दिया गया है।

दो की हालत गंभीर, मेडिकल कालेज रेफर

-राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय लक्ष्मीपुर में भर्ती पारस व अवधेश की हालत गंभीर होने पर शनिवार की देर गोरखपुर मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर कर दिया गया।

हाट स्पॉट जोन से बाहर आया और एक गांव

बड़हरागंज : रामकोला थाने के भुइसोहरा गांव के लोगों की दिनचर्या 16 वें दिन पटरी पर लौट आई। कोरोना पॉजिटिव चाचा-भतीजा स्वस्थ होकर अस्पताल से घर लौटे तो रविवार को सुबह प्रधान प्रतिनिधि दयाशंकर यादव और पुलिस ने सभी सड़कों पर की गई बैरिकेडिग हटवा दिया। तीन जून को दिल्ली से घर आए चाचा काशी और भतीजा अनिल की कोरोना जांच रिपोर्ट पांच जून को पॉजिटिव आई थी। सब्जी की खेती करने वाले रामलाल, विश्वकर्मा, पारस, बंधन, फेरी लगा आजीविका चलाने वाले टुन्नू व ठेले पर रोजमर्रा का सामान बेचने वाले संदीप, मजदूर प्रभु, रामदरश, राजेश रामदेव, इंद्रजीत आदि सभी आवागमन शुरू होने से प्रसन्न दिखे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस