कुशीनगर: कोरोना संक्रमण को लेकर चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान में मंगलवार को जिले के 405 केंद्रों पर 30633 लोगों का टीकाकरण हुआ, जिसमें 16144 को प्रथम व 13250 को द्वितीय डोज तथा 1239 लोगों को सतर्कता डोज दी गई। इसमें स्वास्थ्य कर्मी 776, फ्रंट लाइन वर्कर्स 365 और गंभीर रोगों से ग्रस्त 60 वर्ष से अधिक आयु के 98 लोग शामिल हैं। इसमें 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग के विशेष अभियान में 8210 किशोर भी शामिल हैं। केंद्रों पर सुबह से ही टीकाकरण के लिए भीड़ बनी रही। इस दौरान सभी सीएचसी पर अलग से बनाए गए कक्ष में किशोरों को कोवैक्सीन की डोज दी गई। विद्यालयों में भी कैंप लगाकर बच्चों को टीका लगाया गया।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हाटा के तीन केंद्रों पर लोगों को कोरोनारोधी टीका लगाया गया। सतर्कता डोज लगवाने में प्रमुख रूप से प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. एलबी यादव, डा. निधि उपाध्याय, ईओ नगरपालिका परिषद अजय कुमार सिंह, स्वास्थ्यकर्मी आशुतोष कुमार मिश्र, प्रगति श्रीवास्तव, किरन चौहान, संध्या सिंह, शीतल, मुनीब अहमद आदि रहे। टीम में ब्रजेश उपाध्याय, शरतेन्दु शुक्ला, कामिनी विश्वकर्मा, प्रिया सिंह, कांतिबाला, सोनी वर्मा, नीतू यादव, अंजली, प्रेम सुंदरी आदि मौजूद रहे।

टीकाकरण टीम में शामिल आशा कार्यकर्ता की मौत

नगर के वार्ड नंबर 11 दीनदयाल उपाध्याय नगर (पटनी) में मंगलवार की दोपहर टीकाकरण टीम में शामिल एक आशा की अचानक मौत हो गई। आशा कार्यकर्ता 50 वर्षीय जमीरुन निशा पत्नी शहीद अंसारी टीका लगवाने के लिए लोगों को उनके घर से बुलाकर केंद्र पर ला रही थी। उसी दौरान प्राथमिक विद्यालय पटनी में बने टीकाकरण केंद्र पर अचानक गिरकर अचेत हो गईं। स्वजन उन्हें हाटा सीएचसी ले गए, वहां चेकअप के बाद चिकित्सक ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

Edited By: Jagran