कौशांबी। नगर पंचायत करारी के नेतानगर मोहल्ले में दो दिनों से डायरिया का प्रकोप सिर चढ़कर बोल रहा है। मोहल्ले में बीमारी की चपेट में आए आधा दर्जन लोगों में एक युवक की मौत हो गई। जबकि अन्य बीमार स्थानीय चिकित्सकों ने इलाज करा रहे हैं। लोगों का आरोप है कि सूचना के बावजूद स्वास्थ्य विभाग की टीम परीक्षण करने नहीं पहुंची। वहीं मलिन बस्ती में मौजूद तालाबों के गंदे पानी की निकासी न होने से संक्रमण फैल रहा है।

करारी कस्बे के नेतानगर मोहल्ला में दो दिनों से डायरिया ने अपने पांव फैला रखे हैं। इसकी चपेट में आकर मोहल्ले की मलिन बस्ती में जगरानी, कमलेश, राजेश, रेनू, सुरेश व जीतलाल बीमार हैं। जबकि बृजलाल का 22 वर्षीय बेटे अनीस ने जिला अस्पताल में इलाज के दौरान शुक्रवार की रात दम तोड़ दिया। सुबह उसका अंतिम संस्कार परिवार के लोगों ने कर दिया। अनीस की मौत के बाद से मोहल्ले के लोगों में दहशत का माहौल है। लोगों का कहना है कि मलिन बस्ती के एक निजी स्कूल व सिनेमा घर के समीप दो तालाब हैं। इसमें बस्ती के अलावा अन्य बस्तियों का भी गंदा पानी गिराया जाता है। जल निकासी की कोई व्यवस्था नगर पंचायत की ओर से नहीं की गई है। ऐसे में ओवरफ्लो हुए तालाब का पानी बस्ती की सड़कों पर भी बहने लगता है। इन दिनों पानी सड़क पर बह रहा है। ऐसे में कीचड़ होने के साथ ठहरे हुए पानी में संक्रमण पैदा हो रहा है। लोगों का कहना है कि पनचक्की लगाकर तालाब को खाली कराए जाने की जरूरत है। वहीं स्वास्थ्य विभाग की टीम भी सूचना के बावजूद अब तक नहीं पहुंची है।

Edited By: Jagran