जासं, कौशांबी : पश्चिम शरीरा थाना क्षेत्र के पलरा गांव में दहेज उत्पीड़न के चल रहे मुकदमे के बावजूद दो बार हंगामा करने वाली महिला के खिलाफ कार्रवाई किए जाने से पुलिस कतरा रही है। यही वजह है कि तीसरी बार महिला ने ससुराल पहुंचकर बुधवार को फिर से हंगामा किया। पति के बजाए उसके अधिवक्ता भाई के हिस्से में रहे कमरे का ताला तोड़ने का प्रयास किया। ताला तोड़ते का वीडियो कुछ लोगों ने बनाकर इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दिया। बहरहाल पुलिस की भूमिका पर सवाल खड़ा करते हुए अधिवक्ता ने विपक्षी से रुपये लेकर साठगांठ का आरोप लगाया और शुक्रवार को एएसपी से शिकायत की। एएसपी समर बहादुर ने मामले की जांच कराकर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

पलरा निवासी यूसुफ सिद्धीकी पेशे से अधिवक्ता हैं। वह जिला कचहरी में प्रैक्टिस करते हैं। दिए शिकायती पत्र में बताया कि उनके छोटे भाई का अपनी पत्नी से दहेज उत्पीड़न का मुकदमा न्यायालय में विचाराधीन है। इसके बावजूद महिला आए दिन झगड़े पर आमादा रहती है। पखवारा भर पहले महिला ने घर पर पहुंचकर हंगामा किया और अपने पति के बजाए अधिवक्ता के हिस्से के मकान पर कब्जा करने का प्रयास किया। विरोध करने पर अधिवक्ता के मां की पिटाई की। मामले की शिकायत अधिवक्ता के भाई ने पुलिस से की लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। छह जनवरी को अधिवक्ता का भाई इशहाक पश्चिम शरीरा बाजार जा रहा था। रास्ते में मिली महिला ने अपने परिवार वालों के साथ उसकी पिटाई की और पुलिस को सूचना दे दी। इंस्पेक्टर ने महिला की तहरीर पर पीड़ित इशहाक के खिलाफ ही कार्रवाई कर दी। इस मामले की शिकायत अधिवक्ता ने अपर पुलिस अधीक्षक से किया। एएसपी ने इंस्पेक्टर को जांच कर महिला के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। इससे हौसला बुलंद महिला ने फिर से ससुराल पहुंचकर बुधवार को हंगामा करते हुए अधिवक्ता के कमरे का ताला तोड़कर कब्जे का प्रयास किया। इसका वीडियो भी कुछ लोगों ने वायरल कर दिया है। सूचना के बावजूद पुलिस नहीं पहुंची। इस पर अधिवक्ता ने शुक्रवार को फिर से एएसपी से शिकायत की।

Edited By: Jagran