कौशांबी (जेएनएन)। फिल्म स्टार श्रीदेवी से न खून का रिश्ता और न ही कभी कोई संपर्क, लेकिन फिल्मों को देखकर कादिलपुर के एक युवक को उनके प्रति दीवानगी ऐसी हुई कि उन्हें मां मान बैठा। उनके निधन से इतना दुखी हुआ कि उनकी आत्मा की शांति के लिए विधि विधान से दसवां करने के बाद सोमवार को तेरहवीं संस्कार कर भोज कराया।

पिपरी थाना क्षेत्र के कादिलपुर निवासी 22 वर्षीय शिवपूजन उर्फ बोटे पुत्र मूलचंद्र मजदूरी करता है। परिवार में उसके माता-पिता के अलावा छोटा भाई और बहन है। आठवीं पढ़े शिवपूजन ने घर में श्रीदेवी के चित्र लगा रखे हैं। श्रीदेवी का निधन होने पर दुख में उसने तीन दिन खाना नहीं खाया। उसने श्रीदेवी का दसवां और तेरहवीं करने का निर्णय लिया।

इस कार्य में ग्रामीणों ने भी सहयोग किया। भेजे कार्ड में श्रीदेवी को माता बताते हुए लोगों को तेरहवीं संस्कार में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया। बेटे की दीवानगी को देखते हुए परिवार भी साथ था। कार्यक्रम में प्रधान वीरेंद्र सिंह  सहित ग्र्रामीण भी शामिल हुए। 

By Ashish Mishra