जासं, कौशांबी : प्रदेश भर के कर्मचारी पुरानी पेंशन योजना को बहाल करने की मांग कर रहे हैं। मांगों को लेकर कई बार धरना प्रदर्शन कर चुके हैं। इसके बाद भी सरकार उनकी सुन नहीं रही है। सोमवार को कर्मचारियों ने मशाल जुलूस निकालकर अपनी ताकत का एहसास कराया।

कर्मचारी, शिक्षक, अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली मंच के पदाधिकारियों व सदस्यों ने कहा कि सरकार उदासीन है। कर्मचारी पांच फरवरी तक मांगे पूरी नहीं हुई तो पूरे प्रदेश के कर्मचारी छह फरवरी से हड़ताल पर चले जाएंगे। प्राथमिक शिक्षक संघ, डिप्लोमा इंजीनियर संघ, राजस्व संग्रह अमीन संघ, लोक निर्माण विभाग के कर्मचारियों के साथ ही करीब आधा दर्जन से अधिक कर्मचारी संगठनों ने प्रदेश भर में हड़ताल का ऐलान किया है। उनकी हड़ताल छह फरवरी से लेकर 12 फरवरी तक जारी रहेगी। इस दौरान कर्मचारी सरकारी कार्य नहीं करेंगे। शिक्षामित्रों ने सरकार से मांगा सुरक्षित भविष्य, सौंपा ज्ञापन

जासं, कौशांबी : शिक्षामित्रों ने सोमवार को डायट मैदान परिसर में सुरक्षित भविष्य को लेकर बैठक की। इसके बाद मुख्यमंत्री को संबोधित पांच सूत्रीय मांगों का ज्ञापन अतिरिक्त मजिस्ट्रेट को सौंपा।

उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र संघ जिलाध्यक्ष जिलाध्यक्ष रत्नाकर ¨सह ने कहा कि प्रदेश में पौने दो लाख शिक्षामित्र 19 साल से ग्रामीण अंचलों में प्राथमिक विद्यालयों के गरीब परिवार के बच्चों को शिक्षित कर रहे हैं। न्यायलय ने समायोजन रद कर दिया। इस सदमें में करीब 1100 शिक्षामित्रों की मौत तक हो गई। सरकार का दायित्व बनता है कि वह उनके भविष्य को सुरक्षित करे। प्रदेश उपमंत्री उदय ¨सह ने कहा कि सरकार शिक्षामित्रों के लिए अध्यादेश लाकर दोबारा शिक्षक पद पर तैनात करें या फिर शिक्षामित्र पद को स्थाई करते हुए उनको वेतन मान देकर भविष्य को सुरक्षत कर सकती है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस