संसू, चायल (कौशांबी) : पूरामुफ्ती के मनौरी बाजार स्थित तकीगंज मोहल्ले में सराफा व्यवसायी ने फांसी लगाकर खुदकशी कर ली। सोमवार सुबह जब परिवार के लोगों ने कमरे में लटकते देखा तो तुरंत सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने पूछताछ करनी चाही लेकिन परिवार के लोग कुछ बोलने की स्थिति में नहीं दिखे। मोहल्ले के लोग कर्ज अधिक होने की आपस में चर्चा करते रहे।

इलाके के ही मर्दानपुर निवासी हीरालाल का 37 वर्षीय बेटा श्रीनाथ कई वर्ष से मनौरी बाजार स्थित तकीगंज मोहल्ले में रह रहे थे। घर के अगले हिस्से में जेवरात की दुकान खोली। परिवार वालों ने बताया कि कुछ दिनों से श्रीनाथ काफी गुमसुम थे। कई बार पूछा लेकिन कुछ भी बताने से इन्कार कर देते। रविवार की रात टीवी देखने के बाद सो गए। सुबह जब काफी देर तक कमरे से बाहर नहीं निकले तो आवाज लगाई लेकिन जवाब नहीं मिला। खिड़की से झांक कर देखा तो श्रीनाथ का शव फंदे पर लटक रहा था। इधर, रोने-चीखने की आवाज सुनकर मोहल्ले के लोग इकट्ठा हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह दरवाजे की कुंडी तोड़कर फंदे से नीचे उतारा। परिवार वाले कुछ नहीं बता पा रहे हैं लेकिन मोहल्ले के लोगों ने बताया कि वह सट्टा खेलता था। इसमें वह काफी रुपये भी हार चुका था, जिससे काफी परेशान रहता होगा।

- पीके ¨सह, प्रभारी निरीक्षक पूरामुफ्ती।

Posted By: Jagran