कौशांबी : जनपद में पिछले एक सप्ताह से बिजली के तार से हो रहे शार्ट सर्किट जिले के किसानों के लिए मुसीबत बना है। शार्ट सर्किट की वजह से लगी आग से जनपद के 200 से अधिक किसानों की गेहूं की फसल जल कर राख हो गई है। सबसे अधिक चायल क्षेत्र में रबी की फसल जली है। जिन किसानों की फसल जली है। वह काफी परेशान हैं। सूचना पर पहुंचे

लेखपालों ने फसल नुकसान का आकलन तैयार कर रिपोर्ट तहसील प्रशासन को उपलब्ध कराते हुए ऑनलाइन भी करा दी गई है। जल्द ही पीड़ित किसानों को दैवीय आपदा कोष से सहायता धनराशि उपलब्ध कराई जाएगी।

जनपद में 451 ग्राम पंचायतें हैं। अधिकतर ग्राम पंचायतों में बिजली आपूर्ति के लिए बनाई गई लाइन का तार जर्जर हैं। तार बदलने के लिए किसान सालों से मांग कर रहे है, लेकिन विभागीय अधिकारी ध्यान नहीं दे रही हैं। जर्जर तारों के सहारे हो रही बिजली आपूर्ति ने आग दिन आगजनी की घटनाएं घट रही हैं। पिछले एक सप्ताह में शार्ट सर्किट से आग लगने की वजह से 200 से अधिक किसानों की गेहूं की फसल जल गई है। इससे किसानों को लाखों का नुकसान हुआ है। कुछ किसानों के सामने निवाले का भी संकट खड़ा हो गया। जिन किसानों की फसल आग से जली है उन्हें आर्थिक सहायता देने के लिए राजस्व कर्मियों ने रिपोर्ट तैयार कर ली है। जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह ने बताया कि जिन किसानों की फसल आग से जली है। उनके खाते में जल्द ही तहसील प्रशासन की ओर से दैवीय आपदा कोष से सहायता धनराशि भेजी जाएगी। साथ ही जर्जर बिजली की तारों को बदलवाने के लिए विद्युत एक्सईएन को पत्र भी भेजा गया है। मंझनपुर के 40 किसानों की जली फसल

संसू, अर्का : मंझनपुर तहसील क्षेत्र में पिछले एक सप्ताह से बिजली की तारों से हुई शार्ट-सर्किट से 40 किसानों की फसल जल गई है। मंझनपुर एसडीएम राजेश चंद्रा ने बताया कि तहसील क्षेत्र के जिन किसानों की फसल जली है। सूचना पर लेखपालों से रिपोर्ट तैयार करा ली गई है। जल्द ही संबंधित किसानों को मुआवजा दिया जाएगा।