जासं, कौशांबी : जिले के थानों में रिश्वतखोर पुलिस कर्मियों की पड़ताल करने आई एंटी करप्शन टीम की सूचना लीक हो गई। इसके चलते सभी पुलिस कर्मी अलर्ट हो गए। दो थानों में पहुंचकर एंटी करप्शन टीम के अफसरों घूस देने का प्रयास किया लेकिन उन्होंने नहीं लिया। हालांकि अफसरों ने फिलहाल जिले में डेरा डाल रखा है। हर दिनों थानों में पहुंचकर पुलिस कर्मियों की गतिविधियों को खंगाल रही है।

बीते कुछ माह में हाइवे के अलावा जिले के विभिन्न स्थानों पर ओवरलोड लदे ट्रकों व ट्रैक्टरों से वसूली का प्रकरण सुर्खियों में आया था। इसे लेकर पुलिस अधीक्षक ने कई पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई भी की थी। वहीं इसकी जानकारी जब एंटी करप्शन टीम के अफसरों को हुई तो उन्होंने जिले में डेरा डाल दिया। तीन दिनों से थानों को खंगाल रहे अफसरों की टीम सोमवार को करारी व कोखराज थाने पहुंची। अफसरों ने वहां मौजूद दारोगाओं से अपने को इलाके के किसी गांव का बताते हुए कहा कि उनके ओवरलोड वाहन हैं, जिन्हें पास कराना है। इसके एवज में वह जितना रुपया चाहते हैं उन्हें दिया जाएगा। अफसरों की इस रणनीति की सूचना अचानक लीक हो गई और खेल बिगड़ गया। इसकी जानकारी जब दारोगाओं तक पहुंची तो उन्होंने गाड़ी पास कराने और रुपये लेने से इन्कार कर दिया। इस संबंध में एंटी करप्शन टीम के अफसरों ने फिलहाल अपने आपको पूरी तरह गोपनीय रखा है। इसके चलते पुलिस के आला अधिकारियों को भी इसकी जानकारी नहीं है।

Posted By: Jagran