संसू, बिजिया : विद्युत उपकेंद्र के अर्का से ग्रामीण क्षेत्र में बिजली आपूर्ति के लिए लगाया गया एसटी तार तीन दिन पहले टूट गया है। इससे पांच गांवों की बिजली आपूर्ति ठप हो गई है। इसकी शिकायत ग्रामीणों ने विद्युत विभाग के अधिकारियों से की गई थी, लेकिन तार को जोड़कर आपूर्ति बहाल नहीं की गई है। इससे उपभोक्ताओं को परेशानी हो रही है।

एसटी तार टूटने के बाद विद्युत उपकेंद्र अर्का के सोधिया, बेलहना, अहमतिया, रमपुरवा, कोरांव में पिछले तीन दिनों से बिजली आपूर्ति ठप हो गई है। बिजली न मिलने की वजह से उपभोक्ताओं के घरों में लगे इलेक्ट्रानिक सामान खिलौना बनकर रह गए हैं। अनुज यादव, रामसरोज, कमलेश तिवारी, जितेंद्र, राजा, दीनानाथ, गंगा प्रसाद, राकेश आदि उपभोक्ताओं ने बताया कि बिजली न आने से सबसे ज्यादा पशुपालन से जुड़े लोगों को समस्या हो रही है। पशुओं को पाने नहीं मिल पा रहा है। साथ ही रात के समय गांव की गलियों में अंधेरा बना रहता है। शिकायत के बाद भी बिजली आपूर्ति बहाल नहीं की गई है।

बिजली की सप्लाई न मिलने से घर के इलेक्ट्रानिक सामान खिलौना बनकर रह गए है। सबसे बड़ी समस्या मोबाइल चार्ज करने की है। इसके लिए आस पास के गांवों में जाना पड़ता है।

शिवजीत प्रसाद बिजली न आने से शाम ढलते ही पूरे गांव में अंधेरा पसर जाता है। अधिकतर लोग मोमबत्ती के सहारे काम चला रहे है। शिकायत के बाद भी समस्या का निराकरण नहीं किया गया है।

शंकरलाल गांव में तीन दिनों से बिजली की सप्लाई नहीं मिल पा रही है। इससे पशुपालन को परेशानी हो रही है। समस्या के समाधान के लिए अवर अभियंता, उच्चाधिकारियों के अलावा ट्रोलफ्री नंबर पर शिकायत की गई। इसके बाद भी बिजली आपूर्ति बहाल नहीं की जा सकी।

रामबाबू बिजली न आने से नीट, लेखपाल व दरोगा भर्ती के लिए तैयारी में जुटे प्रतियोगी छात्र अपनी तैयारी नही कर पा रहे है। सबसे दिक्कत आनलाइन कोचिग से जुड़े छात्रों को है जो फीस जमा करने के बाद भी पढ़ाई नही कर पा रहे।

मुकेश तिवारी

Edited By: Jagran