जासं, कौशांबी : कोविड की तीसरी लहर के मद्देनजर ज्यादा से ज्यादा लोगों के टीकाकरण पर शासन का खास जोर है। इसके लिए लगातार टीकाकरण अभियान भी चल रहा है लेकिन, स्वास्थ्य विभाग के पास स्टाफ की कमी के कारण अभियान गति नहीं पकड़ पा रहा था। इसमें तेजी लाने के मद्देनजर स्वास्थ्य महकमा अब दूसरे विभागों की भी मदद लेगा।इसके लिए शनिवार को डीएम की अध्यक्षता में सीएमओ कार्यालय में कार्यशाला आयोजित की गई, जिसमें कई विभागों के अधिकारियों के अलावा आयुर्वेदिक, यूनानी और होम्योपैथिक विभागों के डाक्टर एवं स्टाफ शामिल हुए।

डीएम सुजीत कुमार की अध्यक्षता में हुई कार्यशाला में मुख्य चिकित्साधिकारी डा. केसी राय, कोविड-19 के सर्विलांस आफिसर डा. एस अग्रवाल और यूएनडीपी के जिला मैनेजर अंकित वर्मा ने टीकाकरण के बारे में विधिवत जानकारी दी। बताया कि लोगों को कैसे इसके लिए आगे लाया जाए। पहला टीका लगवाने वाले लोगों को दूसरा टीका लगवाने के लिए और 15 से 17 साल के बच्चों को पहला टीका लगवाने के लिए विशेष रूप से प्रेरित करना है।इस कार्य में बाल विकास परियोजना, जिला आपूर्ति विभाग के अलावा आयुष, यूनानी और आयुर्वेदिक के डाक्टर एवं स्टाफ मदद करेंगे। सीएमओ ने बताया कि शनिवार को 242 जांच सेंटरों पर कोरोना के टीके लगवाए गए।स्टाफ की कमी के कारण टीकाकरण में तेजी नहीं आ पा रही थी, जिसके लिए दूसरे विभागों की मदद ली जाएगी। कार्यशाला में मुख्य विकास अधिकारी शशिकांत त्रिपाठी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला आपूर्ति अधिकारी आदि शामिल थे। पांच लोग और हुए कोरोना से संक्रमित

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए कोशिशें बहुत की जा रही हैं लेकिन, संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। शनिवार को भी जिले में कुल पांच कोरोना संक्रमित मिले, जिसमें से तीन बाहर के रहने वाले बताए गए। वहीं, कुल 21510 लोगों को कोरोना वैक्सीन लगे। इसमें प्रथम और द्वितीय डोज लगवाने वालों के अलावा किशोर भी शामिल रहे।

अब तक जिले में कुल 32 लोग संक्रमित हुए हैं, जिसमें शनिवार के पांच लोग भी हैं। सर्विलांस अधिकारी डा. एस अग्रवाल ने बताया कि कुल 2108 लोगों की जांच हुई। कोरोना के संभावित मरीजों की रिपोर्ट जांच के लिए स्वरूपरानी नेहरू अस्पातल भेजी गई है, जिसमें पांच लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है।इसमें से एक लोग गौतम बुद्धनगर, एक प्रयागराज के प्रीतमनगर के रहने वाले हैं। एक ट्रेस नहीं हो सका। मोबाइल बंद होने के कारण उसे ट्रेस करने की कोशिश की जा रही है। कुल सक्रिय संक्रमित केस में से एक मरीज स्वस्थ हो गया। 22 लोग होम आइसोलेशन में हैं। वहीं, 21510 लोगों ने टीके लगवाए, जिसमें 15 से 17 वर्ष के 6529 किशोर शामिल हैं। 18 साल से अधिक उम्र के 2784 लोगों ने पहली और 11684 लोगों ने दूसरी डोज लगवाई।

Edited By: Jagran